महाराष्‍ट्र में बीजेपी के झूठ की वजह से हमने छोड़ा 25 साल पुराना साथ: उद्धव ठाकरे

0
68

मुंबई। महाराष्‍ट्र में अपनी धुर विरोधी एनसीपी-कांग्रेस के साथ गठजोड़ करके सरकार बनाने जा रहे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। ठाकरे ने शिवसेना विधायकों के साथ बैठक में कहा कि एनसीपी-कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की नौबत बीजेपी की वजह से आई। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी ने बाला साहेब ठाकरे को दिया वचन तोड़ा और दोबारा चुनाव न कराने पड़ें, इसलिए हमने एनसीपी-कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का फैसला किया।
सूत्रों के मुताबिक उद्धव ठाकरे ने मातोश्री में शिवसैनिकों के साथ बैठक में कहा, ‘कांग्रेस-एनसीपी के साथ सरकार बनाने की नौबत बीजेपी की वजह से आई है। बीजेपी ने बाला साहेब को वचन दिया था कि शिवसैनिक सीएम बनेगा। बीजेपी ने अपना वादा तोड़ा है। दोबारा चुनाव न हो, इसलिए हमें यह फैसला लेना पड़ा।’ उन्‍होंने विधायकों को आश्‍वासन दिया कि आज रात तक सरकार बनाने को लेकर सबकुछ साफ हो जाएगा। विधायकों ने उद्धव से कहा कि आप सीएम बनें।

शिवसेना ने विधायकों को मुंबई में रहने के लिए कहा
शिवसेना प्रमुख ने कहा कि अब हम नया गठबंधन बनाने जा रहे हैं। बीजेपी ने झूठ बोला है। आप (शिवसैनिक) जानते हैं कि हमने 25 साल पुराना गठबंधन क्‍यों छोड़ा है। उन्‍होंने कहा कि सीएम पर सही समय पर फैसला लिया जाएगा। बता दें कि आज शाम 4 बजे कांग्रेस-एनसीपी और कांग्रेस की बैठक होने जा रही है। इस बैठक से ठीक पहले उद्धव ने अपने विधायकों से विचार विमर्श के लिए यह बैठक बुलाई थी। शिवसेना ने अपने सभी 56 विधायकों को अगले कुछ दिनों तक मुंबई में ही बने रहने के लिए कहा है।

महाराष्ट्र में गुत्थी सुलझी, 2 डेप्युटी CM फॉर्म्युला
बताया जा रहा है क‍ि आज शाम को शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक करेंगे और उसके बाद वे सरकार गठन का दावा पेश करने राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी से मिलने जाएंगे। एनसीपी के एक सूत्र ने कहा, ‘तीनों पार्टियों के नेताओं की बैठक आज शाम चार बजे बुलाई गई है।’ सूत्र ने कहा, ‘बैठक के बाद हम राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए आज शाम या कल सुबह राज्यपाल से मुलाकात करेंगे।’

‘पूरे 5 साल तक शिवसेना का ही मुख्‍यमंत्री’
इस बीच कांग्रेस नेता मानिकराव ठाकरे ने कहा है कि यह लगभग फाइनल हो गया है कि महाराष्‍ट्र का अगला मुख्‍यमंत्री शिवसेना से होगा। एनसीपी ने कभी भी सीएम पद की मांग नहीं की थी। उधर, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि महाराष्‍ट्र में एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना की गठबंधन सरकार में पूरे 5 साल तक शिवसेना का ही मुख्‍यमंत्री होगा। आज जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि खबर है कि बीजेपी अब शिवसेना के साथ ढाई-ढाई साल तक सीएम पोस्ट बांटने के लिए राजी है तो शिवसेना नेता ने कहा, ‘शिवसेना को भगवान इंद्र के सिंहासन का प्रस्ताव मिले तब भी वह बीजेपी के साथ नहीं आएगी।’