हम प्लास्टिक की बजाए बांस के प्रयोग पर जोर दे रहे हैं: जितेंद्र सिंह

0
52

नई दिल्ली: ‘स्वस्थ इंडिया’ कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, ‘हम प्लास्टिक के प्रयोग की जगह बांस के प्रयोग पर जोर दे रहे हैं. हमारे पास नॉर्थ ईस्ट में बांस के कई स्टोर हैं. बांस के प्रयोग से एक फायदा ये होगा कि लोगों को रोजगार मिलेगा और वो अपने दैनिक जीवन में इसका प्रयोग कर सकेंगे और दूसरा प्लास्टिक का विकल्प मिलेगा. इससे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि गले दो महीनों में 400 बसें, 150 कार और 150 ट्रक बायो-सीएनजी पर चलने लगेंगी. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम बायो कचरे और प्लास्टिक कचरे का इस्तेमाल मेथेन और एथेनॉल में बनाने में कर रहे हैं. ‘बनेगा स्वस्थ इंडिया’ कार्यक्रम के पैनल में शामिल नितिन गडकरी ने कहा कि कहा, “महिलाओं और बच्‍चों की सेहत के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए सरकार कई तरह के कार्यक्रम चला रही है लेकिन कई बार लागू करने के स्‍तर पर गैप आ जाता है. इस गैप को दूर करने के लिए हम इस प्रक्रिया का डिजिटलीकरण करने के बारे में सोच रहे हैं.” उन्होंने ने कहा कि नितिन गडकरी ने कहा कि बॉयो प्लास्टिक सिंगल यूज प्लास्टिक का बढ़िया विकल्प बन रहा है. जिसका इस्तेमाल स्ट्ऱॉ और घरेलू बर्तन के सामान में कर सकते हैं.
वहीं कार्यक्रम दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वच्छता सिर्फ एक शब्द भर नहीं है यह एक व्यापक दृष्टिकोण है और बिना व्यापक सहयोग के इसे सफल नहीं हो सकता है. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में व्यापक स्तर पर डेंगू के खिलाफ अभियान चलाया गया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा दिल्ली में सितंबर का महीना प्रदूषण कम करने के लिहाज से सबसे अच्छा रहा है. इसके बाद एनडीटीवी की ओर से पराली जलाने से हुए प्रदूषण पर सवाल पूछा गया तो केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने हरियाणा और पंजाब के सरकार से बात की है और केंद्र सरकार को भी चिट्ठी लिख चुके हैं. साथ ही उन्होंने जोड़ा कि इस बार उन्होंने पहले से तैयार कर रखी है. 4 नवंबर से ऑड-ईवन की तैयारी भी है. इस बार उन्होंने कहा कि छोटी दिवाली पर लेजर शो करने जा रहे हैं हम सब मिलकर दिवाली बनाएंगे.