उन्नाव दुष्कर्म मामला: पहली FIR में जांच पूरी, कोर्ट में अपनी रिपोर्ट दाखिल करने की तैयारी में CBI

0
54
PTI4_12_2018_000001B

नई दिल्ली: उन्नाव दुष्कर्म मामले में पहली एफआईआर ( FIR) की जांच पूरी हो गई. सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई (CBI) जल्द लखनऊ सीबीआई कोर्ट में अपनी रिपोर्ट दाखिल करने की तैयारी में है. सीबीआई यह कदम दो दिन पहले एम्स में भर्ती पीड़िता का बयान दर्ज करने के बाद उठा रही है.

सूत्रों के मुताबिक, मामला पीड़िता को कानपुर के एक घर मे रखकर सामूहिक दुराचार के मामले में हुई एफआईआर का है, जिसमे पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उसे एक घर मे रखकर भी उसके साथ सामूहिक दुराचार किया गया था. सामूहिक दुराचार के जिन तीन आरोपियों शुभम सिंह, नरेश तिवारी और बृजेश यादव के खिलाफ सीबीआई ने जांच पूरी कर ली गई है और रिपोर्ट तैयार कर ली गई है.

ये मामला उन्नाव रेप कांड में दर्ज सबसे पहली एफआईआर में नामजद आरोपियों से संबधित है. यह एफआईआर पीड़िता की मां ने 20 जून 2017 को दर्ज कराई थी. इन तीनों को पूर्व में गिरफ्तार किया गया था लेकिन कुछ समय में यह तीनों जमानत पर बाहर आ गए थे.

इससे पहले सीबीआई विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसकी महिला साथी शशि के खिलाफ आईपीसी की धारा 120 बी, 363, 366, 376 व 506 के तहत आरोपपत्र दाखिल कर चुकी है.

सीबीआई ने दूसरी चार्जशीट पांच आरोपियों (अतुल, विनीत, बउवा, सोनू शशि उर्फ सुमन) के खिलाफ आईपीसी की धारा 34, 147, 148, 149, 323, 504, 506 व 302 के तहत दाखिल की थी. तीसरी चार्जशीट विधायक सेंगर व नौ अन्य के खिलाफ दर्ज की गई थी. इसमें सेंगर के भाई अतुल, तीन पुलिस कर्मी व अन्य के नाम शामिल थे.