उन्नाव गैंगरेप : विधायक के खिलाफ FIR, हाईकोर्ट में आज सुनवाई

0
188

लखनऊ : उन्नाव गैंगरेप मामले में चारों तरफ हुई फजीहत के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ रेप का केस दर्ज कर लिया है। इससे पहले रेप जैसे गंभीर मामले में कार्रवाई नहीं होने से बुरी तरह घिरी योगी सरकार ने मामले की जांच सीबीआई से कराने का फैसला किया था। पीड़िता की मां की तहरीर पर उन्नाव के माखी थाने में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। विधायक के खिलाफ माखी थाने में आईपीसी की धारा 363, 366, 376, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दायर किया है।

विधायक के पक्ष में लॉबिंग का आरोप

इससे पहले पीड़ित के ने आरोप लगाया था कि विधायकों और नेताओं की एक पूरी लॉबी रेप के आरोपी कुलदीप सेंगर के बचाव में है। उन्हें अब कोर्ट से ही न्याय की उम्मीद है। आपको बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज उन्नाव गैंगरेप मामले में सुनवाई होगी। हाईकोर्ट ने बुधवार को स्वत: संज्ञान लेते हुए पूरे मामले पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी थी। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दाखिल की गई है।

सीबीआई जांच की सिफारिश

यूपी के मुख्य सचिव (सूचना) ने बुधवार देर रात कहा कि गैंगरेप और उसके बाद पीड़िता के पिता की हुई हत्या की जांच सीबीआई करेगी और विधायक के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। उन्होंने देर रात कहा, ”भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार के आरोपों पर विचार करते हुए उचित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी और जांच सीबीआई को सौंपी जाएगी।”

सरकार ने उन्नाव जिला अस्पताल के दो डॉक्टर को भी सस्पेंड कर दिया है और इनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश भी दे दिए गए हैं। जेल अस्पताल के तीन डॉक्टरों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। गैंगरेप केस में पीड़िता के पिता की हत्या मामले में सभी पर लापरवाही बरतने का आरोप है। उन्नाव कांड में योगी सरकार ने ये फैसले विशेष जांच दल (SIT) और दो अन्य रिपोर्ट आने के बाद लिए हैं।

सरेंडर को लेकर बुधवार देर रात विधायक का हाई वोल्टेज ड्रामा

सीबीआई जांच के आदेश से ठीक पहले उन्नाव से बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के सरेंडर को लेकर रात में खूब ड्रामा हुआ। उन्नाव के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक सेंगर रात 11 बजे के करीब लखनऊ में SSP दफ्तर पहुंचे। तब तक यही लग रहा था कि वो सरेंडर करने पहुंचे थे, लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि उऩ्होंने सरेंडर नहीं किया है, केवल वो इसलिए वहां पहुंचे थे क्योंकि कहा जा रहा था कि वो भगोड़े हैं।

जब कुलदीप सेंगर से एसएसपी दफ्तर आने के बारे में पूछा गया तो बात टालते हुए कहा मैं तो मीडिया से मिलने आया था। रेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर के रिश्तेदार और बलरामपुर से विधायक शैलेश सिंह भी कुलदीप सेंगर के साथ एसएसपी दफ्तर पहुंचे थे। शैलेस सिंह का कहना था कि विधायक को भगोड़ा बताया जा रहा था इसलिए एसएसपी से मिलने आए थे। अगर सरेंडर का आदेश होता तो सरेंडर कर देते।

अपराध अस्वीकार

उन्नाव गैंगरेप के योगी सरकार चौतरफा आलोचनाओं का सामना कर रही है। इस बीच बुधवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह लखनऊ पहुंचे। जहां उन्होंने वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की। खबर है कि उन्नाव गैंगरेप का अमित शाह ने जिक्र किया। उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्विट कर कहा कि अपराध भ्रष्टाचार अस्वीकार है।

उन्होंने कहा, ”भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राजनीति के चाणक्य श्री अमित शाह जी के साथ बैठक का एक ही लक्ष्य 2019 में 50% से अधिक मत और 73 + लोकसभा सीटें जीतना इसी लक्ष्य के साथ अभियान शुरू होगा। उत्तर प्रदेश देश की राजनीति का केंद्र है। यहां अपराध भ्रष्टाचार अस्वीकार है।”

गैंगरेप पर बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल

बलिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कुलदीप सिंह सेंगर के बचाव में विवादित बयान दिया है। सुरेंद्र सिंह का कहना है कि तीन बच्चों की मां के साथ कोई रेप करता है क्या?। इसकी सोशल मीडिया पर खूब आलोचनाएं हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here