गुजरात की ओर बढ़ रहा है तूफान, हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया, कई ट्रेनें रद्द

0
79

अहमदाबाद: चक्रवात ‘वायु’ के ‘बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान’ में बदल जाने के कारण महाराष्ट्र में मुंबई और पड़ोस के कुछ तटीय इलाकों में बुधवार सुबह तेज हवाएं चलीं. मौसम विभाग ने यह जानकारी दी. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि चक्रवात पड़ोसी राज्य गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्रों की ओर लगातार बढ़ रहा है. आईएमडी ने कहा, ‘‘चक्रवात वायु बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल गया है. इसके कारण बृहस्पतिवार सुबह 145 से 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलेगी.’’

राहत-बचाव कार्य जारी
भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी तट पर रह रहे लोगों को एहतियाती तौर पर निकालने में आईएएफ की मदद करने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें गुजरात पहुंचनी शुरू हो गई है. हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. राज्य सरकार ने कहा कि राहत-बचाव टीम करीबी तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में जुटी है.

भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, सेना और वायु सेना की इकाइयों को आपात स्थिति के लिए तैयार रखा गया है और निगरानी विमान और हेलीकॉप्टर हवाई सुरक्षा के लिए अभियान चला रहे हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को चक्रवात से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की और अधिकारियों को लोगों की सुरक्षा के लिए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया.

ये जिले होंगे बुरी तरह प्रभावित

राज्य सरकार ने बताया कि चक्रवात से कच्छ, मोरबी, जामनगर, जूनागढ़, देवभूमि-द्वारका, पोरबंदर, राजकोट, अमरेली, भावनगर और गिर-सोमनाथ जिले प्रभावित हो सकते हैं. उसने बताया कि इन 10 जिलों के निचले इलाकों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है. कुमार ने बताया कि इन 10 जिलों में स्कूल, कॉलेजों और आंगनवाड़ियों में 12 और 13 जून को एहतियातन छुट्टी घोषित कर दी गई है.

एक अधिकारी के मुताबिक, एनडीआरएफ की करीब 36 कंपनियां स्थानीय प्रशासन की मदद कर रही हैं. तटरक्षक, थलसेना, नौसेना, वायुसेना और सीमा सुरक्षा बल को हाई अलर्ट कर दिया गया है. एक रक्षा प्रवक्ता ने एक बयान में बताया कि सेना ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में 10 टुकड़ियां तैनात की हैं. उसने 24 टुकड़ियों को तैयार रहने को कहा है और वे बचाव एवं राहत अभियान संचालित करने के लिए तैयार हैं. हर टुकड़ी में करीब 70 जवान हैं.

ट्रेनों पर असर
तूफान ‘वायु’ को देखते हुए आज शाम से 6 बजे से कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. पश्चिम रेलवे के मुताबिक, वेरावल, ओखा, पोरबंदर, भावनगर, भुज और गांधीधाम स्टेशनों के लिए 14 जून तक ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. साथ ही हर स्टेशन से एक स्पेशल ट्रेन का इंतजाम किया गया है.

चक्रवात की मौजूदा स्थिति
आईएमडी ने बताया कि चक्रवाती तूफान के कारण अरब सागर में तेज लहरें उठ रही हैं जो तटीय इलाकों की ओर बढ़ रही हैं. महाराष्ट्र के सिंधदुर्ग जिले की मालवन तहसील के देवबाग गांव में बुधवार को भारी समुद्री लहरों ने तबाही मचा दी.

जिला कलेक्ट्रेट के एक अधिकारी ने बताया कि देवबाग के निचले इलाके में स्थित रहने के कारण यह अक्सर समुद्र में लहर उठने पर जलमग्न हो जाता है. उन्होंने बताया कि अभी तक स्थिति नियंत्रण में है.