आज महाराष्ट्र बंद, मराठा आंदोलन को हुए पूरे दो साल…..

0
468

मुंबई। आरक्षण की मांग लेकर प्रदर्शन कर रहे माराठा आंदोलन को आज दो साल पूरे हो चुके हैं और इसी मौके पर आज सकल मराठा समाज द्वारा अपनी मांगों को लेकर महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया है। हालांकि, इस बंद में मुंबई, ठाणे, नई मुंबई और बीड़ जैसे महत्त्वपूर्ण नगरों को शामिल नहीं किया गया है।

बंद को देखते हुए प्रशासन ने एहतियातन पुणे की 7 तहसीलों में इंटरनेट बंद कर दिया है। जहां इंटरनेट बंद किया गया है उनमें शिरुर, खेड, बारामति, जुन्नार, मवाल, दाउंड और भोर है।

कहा जा रहा है कि संगठन में दरार पड़ती जा रही है। जहां एक धड़ा पूरे बंद के पक्ष में है वहीं दूसरा पक्ष शांतिपूर्ण विरोध की बात की है। जानकारी के अनुसार इस बंद से स्कूल, कॉलेज, मेडिकल जैसी विशेष सेवाएं सुचारू रूप से चलती रहेंगी।

मराठा क्रांति मोर्चा ने नौ अगस्त को महाराष्ट्र बंद का आह्वान काफी पहले से कर रखा था। लेकिन 23 जुलाई को अचानक औरंगाबाद में एक युवक के नदी में कूदकर आत्महत्या कर लेने के कारण पूरे महाराष्ट्र में आंदोलन भड़क उठा और अगले दो दिन महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में न केवल बंद रहा, बल्कि हिंसक आंदोलन भी कई दिन तक होते रहे। इसके बावजूद मराठा क्रांति मोर्चा नौ अगस्त को पुनः बंद आहूत करने पर अड़ा है, लेकिन अब पूरा मराठा समाज उसके साथ खड़ा नहीं दिख रहा है।

सकल मराठा समाज के बीड़ जनपद के संयोजक आबासाहब पाटिल ने साफ कह दिया है कि जब सरकार ने हमारी मांगें मानते हुए सरकारी क्षेत्र के लिए किया जानेवाला मेगा भर्ती अभियान रोक दिया है, और आरक्षण लागू करवाने के लिए नवंबर की समय सीमा भी निर्धारित कर दी है, तो आंदोलन का औचित्य नहीं बनता। उनके इस बयान के साथ ही 15 दिन पहले आंदोलन में काफी बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने वाले बीड जनपद ने इस बंद से खुद को अलग कर लिया है।

मुंबई, नई मुंबई और ठाणे जैसे महानगरों ने भी खुद को बंद से अलग करने की घोषणा कर दी है। इन महानगरों के संयोजकों ने भी साफ कह दिया है कि कुछ दिनों पहले ही ये महानगर उग्र आंदोलन देख चुके हैं। बार-बार जनता को परेशानी में डालना कतई उचित नहीं। इसलिए इन महानगरों को बंद से बाहर रखा गया है। हां, इन महानगरों में मराठा समाज के लोग विभिन्न स्थानों पर धरना देकर अपना विरोध प्रदर्शन जरूर करेंगे।

राज्य के अन्य हिस्सों में बंद की संभावना देखते हुए पुणे सहित कुछ और नगरों के जिलाधिकारियों ने वहां स्कूल-कॉलेज बंद रखने के निर्देश दे दिए हैं। जिन नगरों में बंद का आह्वान किया गया है वहां भी मराठा समाज की ओर से बंद को शांतिपूर्ण, किसी भी तरह की तोड़फोड़ न करने एवं अत्यावश्यक सेवाओं को बंद से बाहर रखने की अपील जारी की गई है।
मुंबई में मराठा आंदोलन का बंद भले न हो, लेकिन कांग्रेस एवं कम्युनिस्ट पार्टी के मजदूर संगठन सीटू के आंदोलन जरूर दस्तक देंगे। मुंबई कांग्रेस एवं महाराष्ट्र कांग्रेस की ओर से संयुक्त रूप से अगस्त क्रांति मैदान से मणि भवन तक तिरंगा मोर्चा निकालने की घोषणा की गई है।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम के अनुसार अगस्त क्रांति दिवस पर यह मोर्चा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर निकाला जा रहा है। इसी प्रकार वामपंथी दलों से जुड़े मजदूर संगठन सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन्स (सीटू) ने भी अगस्त क्रांति दिवस को पूरे भारत में विभिन्न स्थानों पर च्मोदी सरकार भारत छोड़ो आंदोलन की घोषणा की है। मुंबई में इस संगठन की तरफ से चर्चगेट स्टेशन से हुतात्मा चौक तक मोर्चा निकाला जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here