IRCTC मामले में तेजस्वी और राबड़ी को मिली नियमित जमानत

0
56

पटना: आईआरसीटीसी टेंडर घोटाला मामले में आरोपी तेजस्वी यादव और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने नियमित जमानत दे दी है. इसके अलावा इस मामले के अन्य आरोपी जो पेशी के लिए कोर्ट में हाजिर हुए उन्हें भी जमानत दी गई है. कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई की तारीख 19 नवंबर रखी है.

कोर्ट ने सभी को 1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दी है. साथ ही लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका की तारीख 19 नवंबर तय की है, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा.

CBI ने किया जमानत का विरोध

  • सुनवाई के दौरान सीबीआई ने जमानत का विरोध किया.
  • सीबीआई ने कहा कि सभी आरोपी पॉवरफुल हैं.
  • नियमित जमानत मिलने पर वे जांच को प्रभावित कर सकते हैं.
  • सीबीआई ने कहा कि आरोप गंभीर हैं और आरोपियों के खिलाफ जांच में काफी सबूत मिले हैं.

क्‍या है आरोप

ईडी का आरोप है कि लालू प्रसाद जब रेलमंत्री थे. तब पुरी और रांची में रेलवे के दो होटलों का सब-लीज मेसर्स सुजाता होटल प्राइवेट लिमिटेड को दी गई थी. जिसमें आईआरसीटीसी के अधिकारियों ने रेलमंत्री के आदेश पर अपने पदों का दुरूपयोग किया.

कम कीमत पर दी गई जमीन

होटल के सब-लीज के बदले पटना के एक प्रमुख स्थान की 358 डिसमिल जमीन फरवरी 2005 में राजद सांसद पी.सी.गुप्ता के परिवार की कंपनी मेसर्स डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड को दे दी गई थी. उस समय के सर्किल दरों से काफी कम दर पर यह जमीन कंपनी को दी गई थी. ईडी ने आरोप-पत्र में कहा है, काफी महंगी जमीन से लैस वह कंपनी धीरे-धीरे राबड़ी देवी और तेजस्वी को ट्रांसफर कर दी गई. बहुत ही मामूली कीमत पर शेयर खरीद कर ऐसा किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here