जुर्माने के खिलाफ जनता ने छेड़ा जंग

0
77

भुवनेश्वर. कानून के आड़ में आतंक मचा रहे पुलिस व परिवहन विभाग के अधिकारियों के खिलाफ आज आम जनता ने जोरदार जंग छैड़ दिया । जिसे लेकर स्थानीय भीडभरी राजमहल चैक कुरूक्षेत्र में तब्दील हो गया। पुलिस की ओर से लाठी चार्ज व दमन के सारे हथकंडे अपनाने के बावजूद भी जनता पुलिस को जाने नहीं दी। पुलिस कमिशनर को यह वादा करना पड़ा कि वह आज दिन भर किसीसे अधिक जुर्माना नहीं वसुला है। एक व्यक्ति से 500 रूपये से अधिक नहीं वसुलेंगे।
पिछले दो दिन की तरह आज भी दिन में पुलिसए ट्रैफिक पुलिस व परिवहन विभाग;आरटीओद्ध के अधिकारी राजमहल चैक पर पहुंचकर वाहन चालकों से अंधाधुंध जुर्माना वसूलना शुरू किया था। देखते ही देखते आसपास सैकड़ों दुपहिया व अन्य वाहन एकत्र हो गये थे। चोक के चारों ओर लोग जम गये थे। तब चैक पर राज्य सरकार का एक मो बस आकर रूका था जिसमें ड्राइवर बिना सीट बेल्ट के गाड़ी चला रहा था। लेकिन उसे पुलिस कुछ नहीं कहा तो लोगों ने उस बस को रोका व पुलिस को पूछा कि उससे क्यों जुर्माना वसूला नहीं जा रहा है। तब सरकारी बस को बचाने के लिए दो पीसीआर पुलिस वैन आ पहुंचे तो लोगों ने दोनों को घीर कर पुलिस ड्राइवर से लाइसेन्स मांगा। ड्राइवर के पास लाइसेन्स नहीं थी। तो लोगों ने इन्सुरैन्सए वीमा आदी प्रमाणपत्र देखाने के लिए कहा था। लोगों की बात सुने बगैर पुलिस बाबू लोगों पर पुलिसिया रोब झाडने लगे थे। लोगों ने पुलिस को घेर कर सभी वैन के चक्के से हवा निकाल दिया। तब नगर निगम की एक ट्रक आकर भी चैक पर पहुंच गया तो लोगों ने उससे लाइसेन्स मांगा। उसके पास लाइसेन्स नहीं थी। लोगों ने फिटनेश प्रमाणपत्र मांगा। वह भी नहीं था। लोगों ने आम जनता से जुर्माना वसूलने वाले पुलिस को तुरन्त इन सरकारी वाहनों से जुर्माना वसूलने के लिए निर्देश दिए। लेकिन पुलिस ने नहीं माना तो लोगों ने पूछा था कि अगर उनसे जुर्माना वसूला नहीं जा रहा है तो हमसे क्योंघ् इसके बाद वहां जनता व पुलिस के बीच एक कुरूक्षेत्र की लडाई देखने को मिला।

पुलिस को बचाने के लिए चली लाठी
सूचना मिलते ही पुलिस कमिशनर व भुवनेश्वर डीसीपी साथ में ओैेर अधिक फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे थे। लेकिन लोगों ने उनकी न सुनी तो कमिशनर ने लाठी चार्ज करवाया। लाठी चार्ज से लोग पहले तीत्तर बित्तर तो हो गये लेकिन फिर से एकùे होकर पुलिस को घेरा। तब तक पुलिस ने प्रेस पर आक्रमण करके मीडिया को एक साइड़ में करवा दिया था। लोगों ने कुछ नहीं सुना तो कमिशनर ने थोड़ा रोब कम किया व लोगों से कहा कि हम लोग हजारों करके रूपये जुर्माना के रूप से नहीं वसूल रहे हैं। हम सिर्फ पांच चीज देख रहे हैं कि एक मोटर साइकिल में ३ लोग बैठकर नहीं जायए शराब पीकर वाहन नहीं चलाएंए वाहन चलाने के समय मोवाइल में बात नहीं करेंए बिना लाइसेन्स के वाहन नहीं चलाएंे व गलत रूट में गाड़ी नहीं चलाएं। कमिशनर ने कहा कि हम किसीसे हजारों रूपये का जुर्माना नहीं वसूल रहे हैं। आज हम किसीसे 500 रूपये से अधिक का जुर्माना नहीं वसूला है।