जिम्बाब्वे में तख्‍तापलट की खबरों को सेना ने किया खारिज, कहा- यह सैन्‍य अधिग्रहण नहीं

जिम्बाब्वे की सत्तारूढ़ पार्टी ने देश के सेना प्रमुख द्वारा संभावित सैन्य हस्तक्षेप की चेतावनी देने के बाद राजद्रोह करने का आरोप लगाया था। जनरल कॉन्स्टेंटिनो चिवेंगा ने राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे द्वारा उप राष्ट्रपति को बर्खास्त करने के बाद चुनौती दी थी।

| Published On: Nov 15, 2017 10:35 AM IST | Updated On: Nov 15, 2017 10:37 AM IST |   69

खास बातें-

  • हरारे में विस्फोट की खबरें लेकिन कारण स्पष्ट नहीं है
  • बख्तरबंद वाहन हरारे के बाहर की सड़कों पर तैनात
  • राष्ट्रपति रोबर्ट मुगाबे के शासन की महत्वपूर्ण समर्थक रही है सेना

हरारे।

जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में तीन विस्फोट के बाद सेना ने सरकारी टीवी ब्रॉडकास्टर को सीज कर दिया है। इतना ही नहीं जिम्बाब्वे में सेना और सरकार के बीच बढ़ते राजनीतिक तनाव के दौरान सैनिकों ने राजधानी हरारे में मौजूद नैशनल ब्रॉडकास्टर्स जेडबीसी के दफ्तर को अपने कब्जे में कर लिया है। हालांकि सेना ने इसे तख्तापलट कहने से इनकार कर दिया है। उसका कहना है कि राष्ट्रपति राबर्ट मुगाबे सुरक्षित हैं। हम केवल अपराधियों को निशाना बना रहे हैं। वहीं सेना के जवानों को राजधानी में राहगीरों को मारते और सेना के तीन वाहनों में गोला बारूद भरते देखा गया है।

सैनिकों से घिरा राष्ट्रपति का घर-

जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति का घर सैनिकों से घिरा देखा गया है। वहां गोलियों की आवाज भी सुनी गई हैं। लेकिन ऐसी भी संभावना जताई जा रही है कि 37 साल का शासन जाते देख खुद की रक्षा के लिए फायरिंग की गई है।

यूनिवर्सिटी के नजदीक भी फायरिंग-

रिपोर्टे के मुताबिक, जिम्बाम्बे यूनिवर्सिटी के भी नजदीक भी विस्फोट की आवाज सुनी गई है। जिम्बाब्वे के सेना प्रमुख ने कहा, वह सोमवार को ही राष्ट्रपति मुगाबे के विरोधियों के खत्म करने के लिए कदम उठा सकते थे। तनाव के बीच सेना के टैंक सिटी सेंटर की ओर आते हुए देखे गए।

यूएस एंबेसी ने किया ट्वीट-

इस दौरान राजधानी में स्थित यूएस एंबेसी ने ट्वीट किया करते हुए कहा है, 'यहां अनिश्चितता चल रही है।' इसके बाद एंबेसी ने यूएस नागरिकों को कहा है, 'आगे की सूचना तक सूरक्षित स्थान पर रहें।' ब्रिटिश सरकार ने कहा है, अनिश्चित राजनैतिक स्थिति को देखते हुए ब्रिटिश नागरिक घरों में ही रहें।

सुरक्षित हैं राष्ट्रपति-

ये भी कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के घर के पास जुटे क्रिमिनल्स को टार्गेट करते हुए फायरिंग की गई है। यह सैन्य शासन लगाने का प्रयास नहीं है। राष्ट्रपति और उनका परिवार सुरक्षित हैं।

 

Like Us

ब्रेकिंग न्यूज

बिहार में आज 588 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बना रिकार्ड बनाएगी बिहार सरकार आगरा-दिल्ली रेलमार्ग पर डीरेल हुई गोंडवाना एक्सप्रेस, बड़ा हादसा होने से बचा 26/11 की तर्ज पर काबुल में हमला, 15 की मौत दर्जनों घायल दिल्ली की पटाखा फैक्ट्री में भीषण आग, 17 कि मौत, 23 लापता