IndiGo केस: एयरलाइन्स के खिलाफ जारी है शिकायतों का सिलशिला

बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु से हाल ही में इंडिगो के एक इम्प्लाॅई ने बदलसूकी की थी। नया मामला टर्मिनल ट्रांसफर बस में चढ़ने को लेकर विवाद के बाद 53 साल के एक पैसेंजर और इंडिगो स्टाफ के बीच मारपीट का है

Published On: Nov 08, 2017 06:44 PM IST | Updated On: Nov 08, 2017 06:45 PM IST |   51

नई दिल्ली।

IndiGo एयरलाइन्स विवादाें में है। बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु से हाल ही में इंडिगो के एक इम्प्लाॅई ने बदलसूकी की थी। नया मामला टर्मिनल ट्रांसफर बस में चढ़ने को लेकर विवाद के बाद 53 साल के एक पैसेंजर और इंडिगो स्टाफ के बीच मारपीट का है। यह घटना पिछले महीने इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुई थी, जिसका वीडियो मंगलवार को वायरल हुअा। इंडिगो ने आरोपी स्टाफ को टर्मिनेट कर दिया है। सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने डीजीसीए से रिपोर्ट मांगी है। यह घटना क्यों और कैसे हुई, एयरलाइन का कोड ऑफ कंडक्ट क्या कहता है, पैसेंजर क्या कर सकते हैं और एयरलाइन्स के खिलाफ कितनी शिकायतें आ रही हैं...

पैसेंजर के साथ विनम्र व्यवहार करें

एयरलाइन का कोड ऑफ कंडक्ट ‘हैरेसमेंट बाय ए कस्टमर’ के बारे में कहता है कि अगर स्टाफ किसी कस्टमर के हैरेसमेंट का सामना करता है तो उसे हमेशा विनम्रता से पेश आना चाहिए। इसके बाद अपने मैनेजर को हालात के बारे में बताना चाहिए।
ये प्रोसिजर उन मामलों के लिए भी है, जिनमें कस्टमर का बर्ताव अपमानजनक हो, या वह धमकी दे, सेक्शुअल कमेंट्स या इशारे करे या नस्ल-जेंडर के बारे में नेगेटिव कमेंट करे। कोड ऑफ कंडक्ट के मुताबिक, किसी भी हालात में इम्प्लॉई को टकराव पैदा नहीं करना चाहिए।

हेल्थ और उसके कम्फर्ट पर ध्यान देना चाहिये

DGCA के सिविल एविएशन रिक्वायरमेंट्स के नियमों में ग्राउंड स्टाफ के लिए जारी जनरल एडवाइज में भी कहा गया कि पैसेंजर की हेल्थ और उसके कम्फर्ट पर ध्यान दिया ही जाना चाहिए। एयरक्राफ्ट ऑपरेटर सिक्युरिटी प्रोग्राम में भी कहा गया है कि ग्राउंड पर अगर कोई पैसेंजर बुरा बर्ताव भी करता है तो उससे सब्र से पेश आएं और घटना के बारे में ऊपर रिपोर्ट करें।

पैसेंजर बुरा बर्ताव भी करता है तो भी उससे विनम्र व्यवहार करें

एयरलाइन और DGCA के नियमों के मुताबिक, अगर कोई पैसेंजर बुरा बर्ताव भी करता है उसे मारपीट जैसा रास्ता अपनाने की जगह अपनी रिपोर्टिंग अथॉरिटी या मैनेजर को इस बारे में रिपोर्ट करना चाहिए। ताजा मामले में भी सवाल यही उठ रहा है कि जब पैसेंजर और ग्राउंड स्टाफ के बीच कहासुनी हुई तो एयरलाइन या सिक्युरिटी से जुड़े बाकी लोगों ने मामला शांत करने की कोशिश क्यों नहीं की? और ग्राउंड स्टाफ को अगर पैसेंजर के बर्ताव से दिक्कत थी तो क्या उन्होंने अपने सीनियर्स को इस बारे में बताया था?

एयरलाइंस के खिलाफ बदसलूकी की बढ़ रही हैं शिकायतें

DGCA की रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई को छोड़कर जनवरी से सितंबर 2017 तक लगातार एयरलाइंस द्वारा पैसेंजर्स से बुरा सलूक करने की शिकायतें बढ़ी हैं।
जनवरी 2017 में स्टाफ बिहेवियर की 6.4% शिकायतें आती थीं, वहीं सितंबर 2017 में ये 9.2% बढ़ गईं हैं।

महीना के हिसाब से शिकायतें
जनवरी 6.4%
फरवरी 7.8%
मार्च 8.7%
अप्रैल 8.7%
मई 8.8%
जून 7.8%
जुलाई 5.7%
अगस्त 7.8%
सितंबर 9.2%

क्या करें पैसेंजर्स?

एयरलाइंस कंपनियां या उनका स्टाफ पैसेंजर्स के साथ किसी भी तरह का बुरा बर्ताव करते हैं या फिर फ्लाइट से जुड़ी कोई भी प्रॉब्लम होती है तो पैसेंजर्स इसकी शिकायत सीधे सिविल एविएशन द्वारा खास तौर पर शिकायत के लिए जारी किए गए ईमेल पर कर सकते हैं। sugam@dgca.nic.in ईमेल आईडी पर पैसेंजर को अपने टिकट की डिटेल के साथ ये कम्प्लेन करनी होगी।

2 हफ्ते के अंदर एक्शन

DGCA ईमेल को संबंधित एयरलाइंस को भेजकर 2 हफ्ते के अंदर एक्शन लेने का आदेश देता है। कम्प्लेन सेल को एविएशन मिनिस्ट्री के ज्वाइंट डायरेक्टर ललित गुप्ता देखते हैं।
दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर क्या हुआ था

यह मामला 15 अक्टूबर का है, जिसका वीडियो वायरल हुआ है। 53 साल के राजीव कत्याल चेन्नई से आने वाली इंडिगो एयरलाइन्स की फ्लाइट 6ई-487 से आईजीआई एयरपोर्ट पहुंचे थे। वहां कत्याल और इंडिगो एयरलाइन के स्टाफ में जमकर मारपीट हुई। 

मारपीट क्यें हुयी इसका क्या कारण था

कत्याल जब तक प्लेन से टर्मिनल तक जाने के लिए इंडिगो की ट्रांसफर बस तक पहुंचते, वह पैसेंजर्स से भर चुकी थी। इस वजह से इंडिगो एयरलाइन के स्टाफ ने कत्याल को बस में चढ़ने से रोक दिया। वीडियो में कत्याल यह शिकायत करते सुने जा रहे हैं कि वे लाइन में खड़े हैं लेकिन उनसे बार-बार कहा जा रहा है कि इधर आ जाओ-उधर आ जाओ। अपना काम तो करो। आरोप है कि इससे नाराज होकर कत्याल ने इंडिगो स्टाफ जुबी थॉमस को अपशब्द बोल दिए। वीडियो में ग्राउंड स्टाफ को यह कहते सुना गया कि आप अपनी उम्र को देखिए, फिर गाली दीजिए।

पैसेंजर और इंडिगो स्टाफ में हाथापाई हुयी

वीडियो में आगे नजर आ रहा है कि जब कत्याल ने टर्मिनल ट्रांसफर बस में जाने की कोशिश की तो ग्राउंड स्टाफ ने कहा- इन्हें रोक लो। इसके बाद कुछ हुआ और कत्याल को इंडिगो स्टाफ खींचते हुए कुछ दूर ले गया। इस पर कत्याल ने एक स्टाफ की गर्दन पकड़कर पूछा- हाऊ कैन यू पुश मी? उससे सवाल किए। इससे नाराज हुए इंडिगो के ग्राउंड स्टाफ ने कत्याल को जमीन पर गिरा दिया।

कत्याल कहते रहे- हाऊ डेयर यू

पास में ही मौजूद इंडिगो के दो स्टाफ ने भी कत्याल को जकड़ लिया। एक आदमी उनके सीने पर चढ़ गया। बाकी दो ने उनके हाथ-पैर पकड़ लिए। कत्याल भी खुद को बचाने के लिए हाथापाई करते रहे। 
मारपीट की जानकारी मिलते ही सीआईएसएफ कमांडो मौके पर पहुंचे और कत्याल को वहां से बाहर निकाला। सीआईएसएफ ने दोनों को पालम पुलिस के हवाले कर दिया। वहां दोनों के बीच राजीनामा हो गया।
इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के डीसीपी संजय भाटिया ने कहा कि इंडिगो स्टाफ और पैसेंजर के बीच गलतफहमी के चलते विवाद हुआ था। इस मसले को उन्होंने आपस में सुलझा लिया।
बताया जा रहा है कि इस पूरे वाकये को मोबाइल फोन से शूट करने वाले इंडिगो के एक व्हिसलब्लोअर स्टाफर को एयरलाइन ने हटा दिया।

इंडिगो डायरेक्टर ने मांगी माफी

23 दिन बाद यह मामला सामने आने के बाद इंडिगो के प्रेसिडेंट और डायरेक्टर आदित्य घोष ने माफी मांगी और कहा कि एयरलाइन स्टाफ के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
घोष के हवाले से जारी इंडिगो के बयान में कहा गया, ''मैं मानता हूं कि हमारे पैसेंजर को दिल्ली एयरपोर्ट पर हमारे स्टाफ से बातचीत के दौरान खराब बर्ताव का सामना करना पड़ा। ये हमारे कल्चर का हिस्सा नहीं है, इसलिए मैं निजी तौर पर माफी मांगता हूं। मैंने पैसेंजर से पर्सनली बात की है और अफसोस जताया है।''
उन्होंने कहा, ''किसी की भी डिग्निटी को नुकसान पहुंचाना वाला कोई भी काम गंभीर मसला है। मामले की जांच कर रहे हैं।''
बाद में इंडिगो ने कहा कि हम हर दिन हजारों पैसेंजर्स को ट्रेवल कराते हैं। हम कस्टमर का सम्मान करते हैं, इसलिए वे हमें ही सबसे ज्यादा चुनते हैं। लेकिन वीडियो सामने आने के बाद हमने कार्रवाई की है। जांच पूरी होने से पहले ही हमने आरोपी स्टाफ को सस्पेंड कर दिया है। अगर प्रोवोकेशन भी रहा हो, तब भी हमारे स्टाफ ने तय प्रोसिजर नहीं अपनाए। आरोपी स्टाफ में से जो मुख्य आरोपी है उसे तुरंत नौकरी से टर्मिनेट कर दिया गया है।

कत्याल ने पूरा मामला बयां किया

कत्याल ने घटना के बारे में कहा, ''मैं प्लेन के शेड के नीचे खड़ा था जब ग्राउंड स्टाफ ने मुझ पर बुरी तरह से चिल्लाना शुरू कर दिया। मैंने उनसे पूछा कि आप तीसरी बस अरेंज क्यों नहीं करते, जिसके लिए हम सभी इंतजार कर रहे हैं। इस बीच, जब बस आई तो दो लोग ने मेरी तरफ इशारा कर कहा कि इसे सबक सिखाते हैं। उनमें से एक ने मुझे बस के दरवाजे से खींच लिया, फिर मारपीट की।

सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने क्या कहा

सिविल एविएशन मिनिस्टर अशोक गजपति राजू ने कहा, ''कौन सही है, कौन गलत, हम इसमें अभी नहीं पड़ना चाहते। अगर वॉयलेशन हुआ है तो उस बारे में देखेंगे। इस तरह की बर्बर हरकतों को मंजूर नहीं किया जा सकता।'' राजू ने डीजीसीए से इस मामले की इंडिपेंडेंट जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है।
राजू से पहले मिनिस्टर अाॅफ स्टेट फॉर सिविल एविएशन जयंत सिन्हा ने कई ट्वीट कर कहा कि अफसोस की बात है कि ऐसी घटना हुई। पैसेंजर की सिक्युरिटी हमारी टॉप प्रायोरिटी है। मिनिस्ट्री ने इंडिगो से डिटेल रिपोर्ट मांगी है। हमें उम्मीद है कि पैसेंजर क्रिमिनल कम्प्लेंट फाइल करेगा। इससे हमें कार्रवाई करने में मदद मिलेगी।

इस मामले पर मिली प्रतिक्रिया

इस मामले पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने भी प्रतिक्रिया दी। बता दें कि लोहानी एयर इंडिया के सीएमडी भी रहे हैं। लाेहानी ने कहा- इंडिगो स्टाफ का बर्ताव बेशर्मी भरा और अमानवीय है। व्हिसलब्लोर पर कार्रवाई करने का एयरलाइन का कदम तो और भी गंभीर है।
शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा- एयरलाइंस के लिए भी नो फ्लाई बैन होना चाहिए। ऐसे स्टाफ को हत्या की कोशिश के आरोप में अरेस्ट करना चाहिए।
बता दें कि शिवसेना के ही सांसद रविंद्र गायकवाड़ भी प्लेन के अंदर एयरलाइन स्टाफ से बुरे बर्ताव के आरोपी रहे हैं।

पीवी सिंधु के साथ स्टाफ द्वारा किया गया बुरा बर्ताव

स्टार बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधु ने इंडिगो एयरलाइन के ग्राउंड स्टाफ पर बुरा बर्ताव करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि वे 4 नवंबर को 6E 608 फ्लाइट से बॉम्बे जा रही थीं तो ग्राउंड स्टाफ अजितेश ने उनसे बुरा बर्ताव किया। जब एक एयर होस्टेस आशिमा ने रोकने की कोशिश की तो ग्राउंड स्टाफ ने उससे भी बुरा सलूक किया।
दुनिया में भी ऐसे मामले हुए हैं। इसी साल एक मामला शिकागो के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर यूनाइटेड एयरलाइन्स के प्लेन से एक पैसेंजर को स्टाफ ने खींचकर बाहर निकाला। पैसेंजर से मारपीट की गई। इसके बाद पैसेंजर का वीडियो वायरल हआ जिसमें उसके मुंह से खून बहता नजर आ रहा था। इस घटना के बाद पैसेंजर्स ने एयरलाइन का बायकॉट करने की धमकी दी। बाद में एयरलाइन को माफी मांगनी पड़ी।

Like Us

ब्रेकिंग न्यूज