सेना प्रमुख का बयान चीन ताकतवर है तो भारत भी कमजोर नहीं

रावत ने कहा अब समय आ गया है कि भारत अपना ध्यान उत्तरी सीमा की ओर केंद्रित करे

ARPITA KATIYAR | Published On: Jan 12, 2018 03:16 PM IST | Updated On: Jan 12, 2018 03:16 PM IST |   64

नई दिल्ली।

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज दिल्ली में कहा कि तमाम कोशिशों के बावजूद जम्मू और कश्मीर में आतंकवादियों की संख्या और आतंकवाद की घटनाएं नहीं घटी हैं। उन्होंने कहा कि बुरहान वानी के बाद जो हालात बिगड़े थे वह साउथ कश्मीर में बिगड़े थे। इंसर्जेंसी जब बिल्ट अप एरिया में होती है तो बहुत मुश्किल होती है। हमारा ह्यूमन राइट रिकॉर्ड बहुत अच्छा है, अगर आतंकी किसी घर में छुपा होता है तो वह घबराया हुआ होता है जिसके चलते वह फायर करता है और हमारी कैसुअल्टीस हो जाती है।

रावत का बयान

रावत ने कहा, 'अब समय आ गया है कि भारत अपना ध्यान उत्तरी सीमा की ओर केंद्रित करे। देश इसके साथ ही चीन की आक्रामकता से निपटने में भी सक्षम है।' सेना प्रमुख ने क्षेत्र में अपना प्रभाव बढ़ाने के आक्रामक चीन के प्रयासों के बीच कहा कि भारत अपने पड़ोसियों को देश से दूर होकर चीन के करीब नहीं जाने दे सकता। डोकलाम मुद्दे पर रावत ने कहा, 'हम सीमा पर होनेवाली गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। किसी भी तरह की हलचल हुई तो हम तैयार हैं।'

चीन एक शक्तिशाली देश

सेना प्रमुख ने मीडिया कॉन्फ्रेंस में कहा, 'चीन एक शक्तिशाली देश है, लेकिन हम कमजोर देश नहीं हैं।' भारत में चीनी घुसपैठ से जुड़े एक प्रश्न के उत्तर में कहा, 'हम किसी को भी हमारे क्षेत्र में घुसपैठ की अनुमति नहीं देंगे।' रावत ने आतंकवाद से निपटने को लेकर पाकिस्तान को दी गई अमेरिका की चेतावनियों के बारे में कहा कि भारत को इंतजार करना होगा और इसका असर देखना होगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी केवल इस्तेमाल करके फेंकने की चीज हैं। भारतीय सेना का नजरिया यह सुनिश्चित करना रहा है कि उसे दर्द का एहसास हो।

Like Us

ब्रेकिंग न्यूज

बिहार में आज 588 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बना रिकार्ड बनाएगी बिहार सरकार आगरा-दिल्ली रेलमार्ग पर डीरेल हुई गोंडवाना एक्सप्रेस, बड़ा हादसा होने से बचा 26/11 की तर्ज पर काबुल में हमला, 15 की मौत दर्जनों घायल दिल्ली की पटाखा फैक्ट्री में भीषण आग, 17 कि मौत, 23 लापता