PM मोदी का ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान शुरू, लोगों को कर रहे हैं संबोधित

0
145

नई दिल्ली: स्वच्छता के लिये चलाए गये मिशन को 4 साल पूरे हो गये हैं. इसी को लेकर पीएम मोदी ने आज 9.30 बजे ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान की शुरुआत की. वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये लोगों से रूबरू हो रहे हैं.

यह कार्यक्रम 15 सितंबर से 2 अक्तूबर तक चलेगा. बता दें, 2 अक्तूबर को गांधी जयंती होती है. पीएम ने लोगों से इस अभियान से जुड़ने का आग्रह किया. मोदी ने कहा की ये पूज्य बापू को श्रद्धांजलि देने का सबसे बड़ा अवसर है.

http://

सीएम योगी आदित्यनाथ ने फतेहपुर में दीप प्रज्जवलित कर स्वच्छता ही सेवा अभियान शुरू किया. कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत के बाद वह सीधे प्रधानमंत्री मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े.

सीएम योगी ने पीएम से बात करते हुये कहा, ‘यूपी के लिए पहले, सफाई एक दूर का सपना था, लेकिन स्वच्छता पर जोर देकर आपने राज्य की स्थिति बदल दी है. मार्च 2017 के बाद एक स्वच्छ भारत की ओर आंदोलन ने हमारे राज्य में बढ़ोतरी की.’

पीएम मोदी ने महानायक अमिताभ बच्चन से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बात की. बच्चन ने कहा, ‘आपने स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की और मैं भी भारतीय नागरिक के रूप में इसका हिस्सा बन गया. मैं समुद्र तट को साफ करने के अभियान के साथ विभिन्न स्वच्छता अभियानों से जुड़ा हुआ हूं.’

मोदी से बात करते हुये रतन टाटा ने कहा, ‘टाटा ट्रस्ट सक्रिय रूप से ‘स्वच्छ भारत मिशन’ का समर्थन कर रहा है. आने वाले सालों में भी हमारा समर्थन जारी रहेगा.’

आईटीबीपी कर्मियों के साथ बातचीत के दौरान पीएम ने कहा, ‘मैं आईटीबीपी कर्मियों को अपना सम्मान विस्तारित करना चाहता हूं. आप हमेशा सीमाओं में मुसीबत के समय और आपदाओं के दौरान हमारे साथ रहते हैं. अब स्वच्छता के लिए आपका यह योगदान भी देश को गौरवान्वित कर रहा है.

पीएम मोदी ने कहा-

  • हमें इस बात का संतोष होना चाहिए कि स्वच्छ भारत अभियान के चलते डायरिया के मामलों में बहुत कमी आई है.
  • अस्वच्छता, गंदगी विशेषतौर पर गरीब लोगों के जीवन को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाती है. डायरिया जैसी अनेक बीमारियों का सीधा संबंध गंदगी से है. ये बीमारियां लाखों जीवन हमसे छीन लेती हैं.
  • स्वच्छता एक आदत है जिसको नित्य के अनुभव में शामिल करना पड़ता है। ये स्वभाव में परिवर्तन का यज्ञ है जिसमें देश का जन-जन, आप सभी अपनी तरह से योगदान दे रहे हैं- पीएम मोदी
  • सिर्फ शौचालय बनाने भर से भारत स्वच्छ हो जाएगा, ऐसा नहीं है. टॉयलेट की सुविधा देना, कूड़ेदान की सुविधा देना, कूड़े के निस्तारण का प्रबंध करना, ये सभी सिर्फ माध्यम हैं.
  • क्या किसी ने ये कल्पना की थी कि 4 वर्षों में लगभग 4.5 लाख गांव खुले में शौच से मुक्त हो जाएंगे?
  • क्या कोई ये सोच सकता था कि भारत में 4 वर्षों में करीब 9 करोड़ शौचालयों का निर्माण हो जाएगा?

पीएम मोदी इस कार्यक्रम का शुभारंभ देश के 18 अलग-अलग जगहों से कर रहे हैं. इस कार्यक्रम में कई बड़ी हस्तियां भी शामिल हुई हैं. पीएम ने कहा था, ‘ मैं समाज के हर वर्ग के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत करुंगा.’

प्रधानमंत्री ने स्कूलों के बच्चो, कॉलेज के युवाओं, एनसीसी, एनएसएस, नेहरू सेवा केन्द्रो, सामाजिक संस्थाओं, सरकारी कर्मचारी, देश की जानी-मानी हस्तियों, मीडिया ग्रुप्स से इस स्वच्छ्ता अभियान से जुड़ने के लिए योजना बनाने का आग्रह किया है.

इस स्वच्छता अभियान में अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय और माधुरी दीक्षित जैसे कलाकार भी भाग ले रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here