विवेक तिवारी हत्याकांड: आरोपी सिपाही की पत्नी ने की सिपाहियों से विरोध न करने की अपील

0
154

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के चर्चित ऐपल मैनेजर विवेक तिवारी की हत्या के मामले में आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी के समर्थन में जहां यूपी पुलिस के सिपाही 10 अक्टूबर को एक बार फिर से काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन की तैयारी में हैं, वहीं अब प्रशांत की पत्नी राखी चौधरी ने सबसे शांत रहने की अपील की है। प्रशांत की पत्नी राखी चौधरी भी पुलिस विभाग में कॉन्स्टेबल है। ऐसे में राखी की इस अपील के बड़े मायने हैं।

सिपाहियों की लामबंदी पर सामने आई आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी की पत्नी राखी ने फेसबुक पर पत्र लिखकर और अपना विडियो डालकर साथी सिपाहियों से शांत रहने की अपील की है। राखी ने अपील करते हुए कहा कि उन्हें पुलिस अधिकारियों पर पूरा भरोसा है कि निष्पक्ष और सही जांच होगी। पुलिस फोर्स में सभी को अनुशासन में रहना चाहिए और सभी को हर तरह का विरोध बंद करके अपनी ड्यूटी करनी चाहिए।

काली पट्टी बांधकर विरोध पर ऐक्शन

आपको बता दें कि बीते दिनों आरोपी सिपाही के समर्थन में पुलिस कॉन्स्टेबल्स ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया था, जिसके बाद उनपर कार्रवाई भी कई थी। इसके बावजूद 10 अक्टूबर को एक बार फिर विरोध-प्रदर्शन की अपील और तैयारी की जा रही थी। उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह की कोशिशों के बाद भी विरोध शांत नहीं हो रहा है। 10 अक्टूबर को रही विरोध की अपील के चलते इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के आधार पर डीजीपी मुख्यालय की तरफ से सभी जिलों को अलर्ट जारी कर दिया गया है।

वायरल हो रहा है वॉट्सऐप मेसेज…’अभी नहीं, तो कभी नहीं’

बीते कुछ दिनों से यह मेसेज वॉट्सऐप पर वायरल हो रहा है, ‘मेरा पूरे पुलिस विभाग से कहना है कि अभी नहीं तो कभी नहीं, लंबी बातों वालों से कुछ नहीं होगा। अब कुछ करना ही होगा। दिनांक 10.10.18 को पूरे प्रदेश की पुलिस एक साथ काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराते हुए ड्यूटी करेगी। आप चौराहे पर रहेंगे, लेकिन ट्रैफिक कंट्रोल नहीं करना है। आप थाने पर रहेंगे, लेकिन कहीं क्राइम होने पर नहीं जाना है।’

मेसेज में कहा गया है, ‘एक दिन दोस्तों, सिर्फ एक दिन करके देखो अपनी ताकत का अंदाजा खुद लगाकर देखो। आज से ही सभी भाई काली पट्टी की व्यवस्था कर लें। मेरी बात उचित लगे तो सभी ग्रुप में फॉरवर्ड करना शुरू करिए। आप अंदाजा नहीं लगा सकते अगर आप ने कर लिया है तो आने वाला कल आपका, नहीं तो हर जगह मार खाते रहो।’