बढती जनसंख्या पर बोले गिरिराज सिंह- “भारत सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है”

0
173

नई दिल्ली: केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर जनसंख्या को धर्म से जोड़ा है. गिरिराज सिंह ने कहा है कि -“जनसंख्या नियंत्रण पर धार्मिक व्यवधान भी एक वजह है”. गिरिराज ने ये भी कहा कि भारत सन सैंतालीस की तर्ज पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है. गिरिराज ने सभी दलों को जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए आगे आने को कहा है.

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब गिरिराज सिंह ने जनसंख्या वृद्धि का मुद्दा उठाया है. इससे पहले भी इस मामले पर ट्वीट कर चुके हैं. गिरिराज सिंह ने इससे पहले जनवरी के महीने में ट्वीट किया था-” बढ़ती जनसंख्या और उसके अनुपात में घटते संसाधन को कैसे झेल पाएगा हिंदुस्तान?? जनसंख्या विस्फोट हर दृष्टिकोण से हिंदुस्तान के लिए खतरनाक.”

हालांकि इस ट्वीट के बाद बिहार में बीजेपी की सहयोगी जेडीयू ने ही गिरिराज सिंह पर सवाल उठा दिए थे. जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने गिरिराज सिंह के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा था- ”देश की 130 करोड़ जनता ने NDA को विकास और राष्ट्रवाद के मुद्दे पर वोट किया. जनसंख्या वृद्धि वास्तव में एक समस्या है और इसका ध्यान सबको है. जनसंख्या नियंत्रण के लिए हर संभव प्रयास होने चाहिए लेकिन गिरिराज जी आपको केंद्र सरकार में जिस विभाग की जिम्मेवारी मिली है उसकी चिंता करनी चाहिए.”

यूएन की रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत 2027 में चीन को पीछे छोड़ कर सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश बन जाएगा. इस रिपोर्ट के मुताबिक सदी के अंत तक दुनिया की आबादी करीब 11 अरब होगी. वर्तमान में भारत की जनसंख्या करीब 1.36 अरब और चीन की 1.42 अरब है. रिपोर्ट में संभावना जताई गई है कि 2050 तक भारत 164 करोड़ जनसंख्या के साथ टॉप पर पहुंच जाएगा.

गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा- ”हिंदुस्तान में जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है. जनसंख्या नियंत्रण पर धार्मिक व्यवधान भी एक कारण है, हिंदुस्तान 47 की तर्ज़ पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है. सभी राजनीतिक दलों को साथ हो जनसंख्या नियंत्रण क़ानून के लिए आगे आना होगा.”