अब ग्राहक ATM से बिना डेबिट कार्ड के निकाल सकते हैं पैसे

0
52

नई दिल्ली: अब स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहकों को एटीएम से पैसे निकालने के लिए डेबिट कार्ड की जरूरत नहीं होगी। सरकार बैंक ने शुक्रवार को जानकारी दी कि अब ग्राहक अपने मोबाइल ऐप पर वन-टाइन पासवर्ड (OTP) जेनरेट कर सकते हैं। इस पिन को बैंक के एटीएम में एंटर कर पैसे निकाले जा सकते हैं।

चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि यह सर्विस अभी 16,500 एटीएम में उपलब्ध होगी। बाकी दूसरे एटीएम में थोड़े-बहुत अपग्रेड के बाद देशभर में स्थित कुल 60,000 एटीएम में इसस सुविधा को अगले 3 से 4 महीने में उपलब्ध करा दिया जाएगा। इस प्रॉजेक्ट के दूसरे चरण में ज्यादा कैश डिस्ट्रीब्यूश पॉइंट्स के लिए बैंक को टेक्नॉलजी इंटीग्रेट करनी होगी। उन्होंने कहा कि अगले एक साल में करीब 10 लाख से ज्यादा कैश पॉइंट्स इस टेक्नॉलजी के उपलब्ध होने की उम्मीद है। एक बार सभी एटीएम में इस टेक्नॉलजी के इंटीग्रेट होने के बाद, हम इस टेक्नॉलजी के सभी वेंडर कैश पॉइंट्स, पॉइंट ऑफ सेल (POS) डिवाइसेज और माइक्रो-एटीएम में भी लागू करेंगे।

डेबिट कार्ड से ज्यादा सुरक्षित
ग्राहक अपने एसबीआई YONO ऐप के जरिए टू-स्टेप कैश विड्रॉल प्रक्रिया शुरू कर 6 डिजिट वाला OTP जेनरेट कर सकते हैं। जेनरेट हुआ पिन आधे घंटे तक वैद होगा और इस दौरान ग्राहक किसी भी एसबीआई एटीएम में जाकर, अपने YONO पिन के जरिए ट्रांजैक्शन को ऑथेंटिकेट कर, 6 डिजिट वाला ओटीपी एंटर कर सकते हैं।

बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इस सेवा का इस्तेमाल एक डिवाइस पर एक ग्राहक द्वारा किया जा सकता है। हम टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन प्रक्रिया का इस्तेमाल और 6 डिजिट वाला पिन जेनरेट कर रहे हैं। यह सबसे ज्यादा सुरक्षित है।’ उन्होंने आगे कहा कि हम चाहते हैं कि हमारे ग्राहक संभावित डेबिट कार्ड चोरी, क्लोनिंग और दूसरी धोखाधड़ी से बचें। हमने पाया है कि एटीएम ट्रांजैक्शन के लिए डेबिट कार्ड की तुलना में यह ज्यादा सुरक्षित और बेहतर तरीका है।

सीमित है पैसा निकासी की लिमिट
YONO कैश ट्रांजैक्शन पर वन-टाइम विड्रॉल के लिए अधिकतम लिमिट 10,000 रुपये तय की गई है। ग्राहक एक दिन में इस तरह के दो ट्रांजैक्शन कर सकते हैं।

अभी SBI YONO ऐप को 70 लाख लोग इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं SBI Anywhere ऐप के 1 करोड़ से ज्यादा यूजर हैं। बैंक जल्द ही इन दोनों ऐप को इंटीग्रेट कर देगा और बैंक के IMPS व UPI बेस्ड पेमेंट चैनल समेत सभी तरह की पेमेंट सॉल्यूशन के लिए एक प्लैटफॉर्म उपलब्ध कराएगा।

अभी यह सुविधा डेबिट कार्ड ग्राहकों तक ही सीमित रहेगी। इस सर्विस की कामयाबी देखने के बाद ही, बैंक आने वाले महीनों में यह फैसला लेगा कि क्रेडिट कार्ड ग्राहकों के लिए इस सुविधा को उपलब्ध कराया जाए या नहीं।