नितिन गडकरी का भी कटा चालान, कहा- ओवर स्पीडिंग के लिए मैं भी भर चुका हूं जुर्माना

0
45

नई दिल्ली: मोदी सरकार के नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद देश भर में हंगामा मचा है. लोग भारी भरकम जुर्माने पर गुस्सा जाहिर कर रहे हैं. इस बीच केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारी जुर्माने को सही ठहराया है. गडकरी ने सोमवार को कहा, ‘मुझे भी मुंबई के बांद्रा वर्ली सी लिंक पर ओवरस्पीडिंग के लिए जुर्माना देना पड़ा. मुझे मेरे घर पर चालान मिला और मैंने जुर्माना भरा.’

बता दें कि नया मोटर व्हीकल एक्ट 1 सितंबर से पूरे देश में लागू हो गया है. पुलिस नए ट्रैफिक नियमों का पालन कराने के लिए रोजाना चेकिंग कर रही है. ड्राइविंग के लिए जरूरी कागजात नहीं होने पर भारी भरकम चालान काटा जा रहा है. साथ ही एक्सीडेंट में अगर किसी की मौत हो जाती है, तो आरोपी से 5 लाख रुपये तक जुर्माना वसूला जाएगा, जबकि गंभीर रूप से घायल के लिए 2.5 लाख देने होंगे.

मोदी सरकार-2.0 के 100 दिन पूरे होने पर नितिन गडकरी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बातें कही. गडकरी ने नए मोटर व्हीकल एक्ट को सही ठहराया. गडकरी ने कहा, ‘देश में सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से ही ये एक्ट लाया गया है. क्योंकि, हाल ही में हमने नेशनल हाइवे पर 786 ब्लैक स्पॉट चिह्नित किए हैं. वहीं, 30 फीसदी ड्राइविंग लाइसेंस भी फर्जी पाए गए.

नए मोटर व्हीकल एक्ट में और क्या है?

>>ट्रैफिक नियम तोड़ने पर सख्त सजा होगी. इस बिल में प्रावधान है कि कोई नाबालिग वाहन चलाते हुए एक्सीडेंट करता है, तो उसके पैरेंट्स को 3 साल तक जेल होगी. वाहन रजिस्ट्रेशन भी रद्द कर दिया जाएगा. जुर्माने की रकम भी कई गुना बढ़ाई गई है.

>>ड्राइविंग लाइसेंस नियमों का उल्लंघन करने वाले एग्रीगेटर्स पर 1 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगा. तेज रफ्तार से गाड़ी चलाने पर 1,000 से 2,000 रुपये का जुर्माना लगेगा.

इन धाराओं में होगा जुर्माना
(1) धारा 178 के तहत अब बिना टिकट यात्रा करने पर 500 रुपये जुर्माना देना होगा.
(2) धारा 179 के तहत अथॉरिटीज के आदेश नहीं मानने पर अब 2000 रुपये जुर्माना देना होगा.
(3) धारा 181 के तहत बिना लाइसेंस के वाहन चलाने पर 5000 रुपये जुर्माना देना होगा.
(4) धारा 182 के तहत अयोग्य होने के बाद भी वाहन चलाने पर 10,000 रुपये जुर्माना देना होगा.
(5) धारा 183 के तह अब ओवरस्पीडिंग (तय गति सीमा से ज्यादा तेज वाहन चलाने पर) 1000 रुपये जुर्माना LMV के लिए वहीं, 2000 रुपये जुर्माना MPV के लिए देना होगा.
(6) धारा 184 के तहत खतरनाक तरीके से वाहन चलाने पर अब 5000 रुपये तक का जुर्माना देना होगा.
(7) धारा 185 के तहत अब शराब पीकर वाहन चलाने पर 10,000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है.
(8) धारा 189 के तहत अब स्पीडिंग/रेसिंग पर 5000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है.
(9) धारा 1921 A के तहत अब बिना परमिट वाला वाहन चलाने पर 10,000 रुपये तक के जुर्माना देना होगा.

(10) धारा 193 के तहत लाइसेंस नियमों को तोड़ने पर 25,000 से 1 लाख रु तक के जुर्माने का प्रावधान है.
(11) धारा 194 के तहत ओवरलोडिंग (तय सीमा से ज्यादा सामान होने पर) 2000 रुपये और प्रति टन 1000 रु अतिरिक्त 20,000 रु और प्रति टन 2000 रु अतिरिक्त के जुर्माने का प्रावधान है.
(12) धारा 194 A के तहत अब ओवरलोडिंग (क्षमता से ज्यादा यात्री होने पर) 1000 रु प्रति एक्स्ट्रा पैसेंजर
(13) धारा 194B के तहत अब सीट बेल्ट नहीं लगाने पर 1000 रुपये का जुर्माना देना होगा.
(14) धारा 194C के तहत अब स्कूटर और बाइक पर ओवरलोडिंग यानी दो से अधिक लोग होने पर 2000 रु तक का जुर्माना और 3 महीने के लिए लाइसेंस रद्द हो सकता है.
(15) धारा 194D के तहत अब बिना हेलमेट के 1000 रु तक का जुर्माना और 3 महीने के लिए लाइसेंस रद्द हो सकता है.
(16) धारा 194E के तहत अब एंबुलेंस जैसे इमरजेंसी वाहनों को रास्ता ना देने पर 10,000 रुपए तक का जुर्माना लग सकता है.
(17) धारा 196 के तहत अब बिना बीमा (इंश्योरेंस) वाला वाहन चलाने पर 2000 रुपये का जुर्माना देना होगा.
(18) धारा 199 के तहत अब नाबालिगों के अपराध के मामले में अभिभावक / मालिक को दोषी माना जाएगा. 3 साल तक की सजा का प्रावधान है. नाबालिग पर जुवेनाइल एक्ट के तहत केस चलेगा, वाहन का
रजिस्ट्रेशन भी कैंसल किया जाएगा
(19) अधिकारियों को मिले अधिकार धारा 183, 184, 185, 189, 190, 194C, 194D, 194E के तहत ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड करने का अधिकार