जनता के लिए राहत की खबर, खुदरा मुद्रास्फीति घटकर हुई 2.19 फीसदी

0
102

नई दिल्ली : सब्जी, दाल और चीनी के दाम गिरने से उपभोक्ता मूल्यों पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति की दर दिसंबर 2018 में घटकर 2.19 प्रतिशत पर रह गयी है जबकि इससे पिछले वर्ष के इसी माह में यह आँकड़ा 5.21 प्रतिशत था।

सरकार के आज यहां जारी आंकड़ों में कहा गया है कि नवंबर 2018 में खुदरा मुद्रास्फीति की दर 2.33 प्रतिशत दर्ज की गयी थी। आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर 2018 में सब्जियों की कीमतों में 16.14 प्रतिशत, दाल में 7.13 प्रतिशत, चीनी में 9.22 प्रतिशत, अंडे में 4.34 प्रतिशत तथा फलों में 1.41 प्रतिशत की कमी आयी है।

दूसरी ओर मोटे अनाज की कीमतें 1.25 प्रतिशत, मांस एवं मछली की 5.02 प्रतिशत, दूध की 0.85 प्रतिशत, तेल एवं वसा की 1.41 प्रतिशत, मसालों की 9.22 प्रतिशत, शीतल पेय की 3.96 प्रतिशत और तैयार खाद्य पदार्थों की 3.83 प्रतिशत बढ़ी है।

क्‍या है महंगाई दर घटने की वजह

बीते महीने फल, सब्जियां और ईंधन कीमतों में गिरावट का दौर देखने को मिला और यही वजह थी कि मुद्रास्फीति घटी है. हालांकि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर नवंबर में 2.33 फीसदी और दिसंबर, 2017 में 5.21 फीसदी पर थी. आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर में सब्जियों, फलों और अंडे जैसे प्रोटीन वाले सामान की कीमतों में कटौती रही जबकि मांस, मछली और दालों की कीमतों में मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई.

आम लोगों को कैसे फायदा

खुदरा और थोक महंगाई दरों में कटौती की खबर आम लोगों के लिए भी राहत भरी है. दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक अपनी ब्‍याज दरों को तय करने के लिए खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों का ही इस्तेमाल करता है. ऐसे में इस कटौती के बाद आरबीआई से ब्‍याज दरों में कटौती की उम्‍मीद की जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here