नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू: सख्त नियमों से मची अफरा-तफरी, प्रदूषण जांच केंद्रों पर लगी वाहनों की लंबी कतार

0
54

नई दिल्ली: देशभर में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है. नियम लागू होते ही लोगों में अफरा-तफरी का माहौल है. नए नियम और उन नियमों को लेकर सख्ती के कारण वाहन चालक डरे हुए हैं. अब कोई भी वाहन चालक भारी भरकम जुर्माना नहीं भरना चाहता. नए नियम लागू होने के बाद लोग सख्ती से इसका पालन करने को मजबूर हैं.

हालांकि, इस बीच कई लोगों को नए नियम लागू होने के बाद से भारी भरकम जुर्माना चुकाना पड़ा है. ऐसे में लाइसेंस से लेकर हेलमेट तक और हेलमेट से लेकर पॉल्यूशन सर्टिफिकेट तक लोग अपने साथ रखना चाहते हैं. इसी के मद्देनज़र राजधानी दिल्ली में पॉल्यूशन सर्टिफिकेट बनवाने की होड़ मच गई है. नए नियम में वाहन का पॉल्यूशन सर्टिफिकेट न होने पर भी भारी जुर्मानें का प्रावधान है. ऐसे में दिल्ली के कई पेट्रोल पंप पर बने प्रदूषण जांच केंद्रों पर लंबी कतार लगी हुई है. इन केंद्रों पर कई ऐसी गाड़ियां भी अब आ रही है जिनका पॉल्यूशन साल भर से चेक नहीं हुआ है. इससे साफ पता चलता है कि लोगों में नियम को लेकर काफी डर है.

चार दिनों में 1.28 लाख गाड़ियों को पॉल्यूशन सर्टिफिकेट हुए इशू

राजधानी दिल्ली में पेट्रोल पंप और वर्कशॉप पर बने पीयूसी सेंटरों पर भारी भीड़ देखी गई है. पिछले चार दिनों में ही 1.28 लाख गाड़ियों को सर्टिफिकेट इशू किए जा चुके हैं. लोगों की संख्या इतनी है कि इन सेंटरों पर सर्वर भी डाउन हो गए.

सर्टिफिकेट इशू करने में 15 से 30 मिनट लग रहे हैं

ज्यादा भीड़ होने के कारण परेशानी तो है ही साथ ही सेंटरों पर सर्वर भी डाउन होने की वजह से भी लोगों को काफी समस्या हो रही है. पहले जहां एक सर्टिफिकेट 3 मिनट में बन रहा था तो वहीं अब इसमें 15 से 30 मिनट लग रहा है.

एक दिन में 38000 गाड़ियों की हुई चेकिंग

जहां 1 सितंबर से पहले दिल्ली के पीयूसी सेंटरों पर औसतन 12 से 15 हजार गाड़ियों की चेकिंग होती थी वहीं अब संख्या बढ़कर 38000 तक पहुंच गई है. बुधवार को दिल्ली की पीयूसी में 38000 गाड़ियों की चेंकिग हुई.

नियम लागू होने के पहले ही दिन कटे 3,900 चालान

दिल्ली पुलिस ने महानगर में संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के रविवार को प्रभावी होने के बाद ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने के लिए 3,900 चालान जारी किए. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. यातायात पुलिस द्वारा साझा किए गए आंकड़े के मुताबिक उसने रविवार को 3,900 चालान काटे.

गुरुग्राम में 15000 की स्कूटी और 23000 रुपये का कटा चालान

गुरुग्राम में एक स्कूटी के 23 हजार रुपये के पांच चालान हुए. स्कूटी चालक ने न तो हेलमेट पहन रखा था, न वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट था, न गाड़ी के इंश्योरेंस के पेपर थे, न पॉल्युशन के कागजात थे और न ही ड्राइविंग लाइसेंस था. पुलिस ने स्कूटी को जब्त कर लिया है. अब 23 हजार के जुर्माने के बोझ से दबे स्कूटी चालक चाहते हैं कि उन पर किए गए जुर्माने को कम किया जाए. उनके मुताबिक उनकी स्कूटी की मौजूदा कीमत 15000 रुपये से अधिक नहीं है.