आजादी दिवस पर कश्मीर में लहराए जाएंगे पूरे देश में सबसे ज्यादा तिरंगे…

0
75

नई दिल्ली: इस साल हमारा देश 72वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। देशभर में इसके लिए अभी से तैयारियां शुरू हो गई हैं। राजधानी दिल्ली में तो आज़ादी के इस पर्व को मनाने के लिए खास तौर पर इंतज़ाम हो रहे हैं।

आज़ादी के जश्न की बात की जाए तो हर भारतीय हाथ में तिरंगा लिए देशभक्ति से सराबोर हो उठता है। इस साल आजादी इस दिन को मनाने के लिए कश्मीर से तिरंगे की डिमांड बढ़ गई है।

देशभक्ति और गर्व का एहसास
इससे ये साफ होता है कि कोई कितनी भी दरार डालने की कोशिश कर ले भारतीय देश के लिए एकजुट होने में देर नहीं लगाते। फिर चाहे वो दिल्लीवासी हो या कश्मीरी। देशवासियों को इसी देशभक्ति और गर्व का एहसास कराने दिल्ली के सदर बाजार में तिरंगे और आज़ादी के जश्न से जुड़ी चीजों की बड़ी तेज़ी से बिक्री हो रही है।

तिरंगे के रंग में रंगा बाजार
सदर बाजार में बिक्री के लिए तिरंगा झंडा, तिरंगे में रंगी टोपी, मफलर सब कुछ मौजूद है। 15 अगस्त के पर्व को मनाने के लिए इसी बाजार से देशभर में सामान भेजा जाता है। सदर बाजार में दाखिल होते ही आपको मालूम हो जाएगा कि स्वतंत्रता दिवस नज़दीक है। पूरा बाजार ही जैसे तिरंगे के रंग में रंगा है।

कश्मीर से बढ़ी तिरंगे की डिमांड
यहां के व्यापारी कहते हैं कि वो साल भर झंडे का कारोबार करते हैं। चुनाव के दौरान जहां वो अलग-अलग राजनीतिक दलों के झंडे बेचते हैं, वहीं 15 अगस्त के करीब आते ही सब झंडों पर तिरंगा आगे रहता है। तिरंगे की बिक्री बढ़ जाती है।

न होने पाए तिरंगे अपमान
व्यापारियों का कहना है कि तिरंगे के कारोबार में उन्हें कई बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना पड़ता है। ख्याल रखना पड़ता है कि राष्ट्रीय ध्वज का कैसे भी अपमान न होने पाए।

कश्मीर में बढ़ रहा देशभक्ति का माहौल
राजधानी होने के चलते देशभर में सदर बाजार से तिरंगा भेजा जाता है। झंडे के कारोबारी बताते है कि बीते समय में जम्मू-कश्मीर में तिरंगे की मांग बढ़ी है। इसे कश्मीर के दिल में भारत के प्रति बढ़ते प्रेम के रूप में देखा जाना चाहिए। कश्मीर को लेकर कितने भी विवाद क्यों न जुड़े हो लेकिन कोई भी इस बात को नकार नहीं सकता कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और हमेशा रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here