मिशन 2019: शाह करेंगे 23 जून को जम्मू दौरा, संगठन को करेंगे मजबूत

0
135

नई दिल्ली: मिशन 2019 के तहत जम्मू-कश्मीर की नब्ज टटोलने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 23 जून को जम्मू का दौरा करने वाले हैं। साथ ही शाह पीडीपी-बीजेपी गठबंधन की सरकार के प्रदर्शन की समीक्षा और संगठन के कामकाज का आकलन करेंगे।

हालांकि, बीजेपी ने शाह की यात्रा को संगठनात्मक मामला बताया है। दौरे की तारीख को लेकर भी महत्वपूर्ण है कि पार्टी 23 जून को अनुच्छेद 370 को समाप्त करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराने के रुप में देखती है। पार्टी के काम काज को देखने के साथ-साथ वे डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी फाउंडेशन द्वारा आयोजित सेमिनार में हिस्सा लेंगे।

एजेंडा नहीं भुले

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पार्टी ने जानबूझकर 23 जून शाह को जम्मू दौरे के लिए चुना है। बीजेपी अपने सहयोगी गठबंधन को यह संदेश देना चाहती है कि धारा 370 को रद्द करना उनके एजेंडे में शामिल है।

खोई साख को पाने की कोशिश

पार्टी का यह भी मानना है कि कश्मीर केंद्रित पीडीपी के साथ गठबंधन करके पार्टी की साख क्षेत्र में कम हुई है। इसलिए पार्टी ने अपना एजेंडा आगे करके खोई हुई साख को पाटने की कोशिश करेगी।

डॉक्टर मुखर्जी पर संगोष्ठी

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी अपने मुद्दों को लेकर सजग है और डॉक्टर मुखर्जी पर संगोष्ठी, एक आक्रामक मुद्दा को अपनाने की दिशा में पहला कदम है।

पार्टी ने पिछले महीने अपने कोटा से मंत्रियों की परिषद में भारी बदलाव किया था और एक पूर्व आरएसएस प्रचारक रविंदर रैना को राज्य के नए अध्यक्ष के तौर पर नियुक्त किया है।