AIIMS का मेडिकल बुलेटिन: अटल जी की हालत स्थिर, आज नहीं होंगे डिस्चार्ज

0
243

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को नियमित जांच के लिए सोमवार को एम्स में भर्ती कराया गया है। जिसके बाद आज उनका मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया। बुलेटिन में बताया गया कि आज उनके डिस्चार्ज होने की संभावना कम है।

मेडिकल बुलेटिन जारी करते हुए एम्स के डॉक्टर ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत स्थिर है। उन्हें एंटी बायोटिक्स दिये जा रहे हैं और वे इलाज के दौरान प्रतिक्रिया दे रहे हैं। जब तक इन्फेक्शन नियंत्रित नहीं कर लिया जाता तब तक वे अस्पताल में ही भर्ती रहेंगे।

Related image

इससे पहले वाजपेयी जी का हाल जानने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेता एम्स पहुंचे। मोदी के दौरे के समय अस्पताल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, विजय गोयल अनिल बलूनी समेत पार्टी के कई नेता मौजूद रहे। वहीं गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भी पूर्व प्रधानमंत्री का हाल जानने अस्पताल पहुंचे। 93 वर्षीय वाजपेयी की हालत ठीक बताई जा रही है।

Image result for AIIMS का मेडिकल बुलेटिन: अटल जी की हालत स्थिर, आज नहीं होंगे डिस्चार्ज

बड़े अपडेट्स –

12.00 PM: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत पर एम्स की तरफ से मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया है। एम्स ने कहा है कि अटल जी की तबीयत स्थिर है। जो इलाज चल रहा है उसपर वह रिस्पॉन्ड कर रहे हैं। एम्स की ओर से कहा गया कि जब तक उनकी तबीयत ठीक नहीं होती है वह अस्पताल में ही रहेंगे।

11.10 AM: सूत्रों की मानें तो अटल बिहारी वाजपेयी के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है। डायलिसिस होने के बाद यूरिन पास हुआ है, हालांकि अभी भी उन्हें आईसीयू में ही रखा जाएगा। वहीं ऑक्सीजन सपोर्ट को फिलहाल हटा लिया गया है।

10.30AM: MDMK चीफ वाइको ने मंगलवार सुबह अटल बिहारी वाजपेयी का हाल जाना। एम्स अस्पताल से बाहर आने के बाद उन्होंने कहा कि अटल जी ठीक हैं, चिंता की कोई बात नहीं है।

Image result for AIIMS का मेडिकल बुलेटिन: अटल जी की हालत स्थिर, आज नहीं होंगे डिस्चार्ज

10.00 AM: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए विश्व हिन्दू महासंघ करनैलगंज के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को काली भवानी मन्दिर बहराइच रोड पर दीर्घायु यज्ञ का शुरू कर दिया है । इस मौके पर जुटे कार्यकर्ताओं की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री के जीवन की सलामती के लिए प्रार्थना की जा रही है।

9.30AM: कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा, हम अटल जी के अच्छे स्वास्थ्य की उम्मीद करते हैं।

http://

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम वाजपेयी का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। रात 8 बजे पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी एम्स में 50 मिनट तक रुके और डॉक्टरों से पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली

सोमवार रात को जारी हेल्थ बुलेटिन में कहा गया था कि पूर्व पीएम वाजपेयी को किडनी संबंधी शिकायत के बाद एम्स लाया गया था। जिसके बाद जांच में यूरिन इंफेक्शन का पता चला था। डॉक्टरों की एक टीम की निगरानी में उनका इलाज चल रहा है।

Image result for AIIMS में

सोमवार को एम्स में बढ़ी हलचल

देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स में सोमवार की सुबह ही हलचल बढ़ गई जब पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी जी को भर्ती कराया गया। तब यही खबर आई कि उनको रेगुलर रूटीन चेकअप के लिए एडमिट कराया गया है लेकिन शाम होते-होते ये खबर आई कि उनकी तबीयत तो स्थिर है लेकिन सोमवार की रात उनको अस्पताल में ही रखा जाएगा।

ICU में चल रहा डायलिसिस

एम्स ने बताया कि वाजपेयी को सांस लेने, यूरीन में संक्रमण और किडनी संबंधी परेशानी के बाद भर्ती कराया गया। पूर्व प्रधानमंत्री को ICU में रखा गया है। जहां उनका डायलिसिस चल रहा है। अस्पताल की ओर से रात 10:45 बजे जारी स्वास्थ्य बुलेटिन में एम्स ने कहा है कि वाजपेयी को लोअर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन और किडनी संबंधी दिक्कतों के बाद भर्ती कराया गया। जांच में उन्हें यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन निकला है।

Related image

9 सालों से बीमार अटल जी

पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी पिछले 9 साल से बीमार हैं। वाजपेयी को वर्ष 2009 में आघात लगा था। इसके बाद से उन्हें बोलने में समस्या होने लगी। इससे वह धीरे-धीरे सार्वजनिक जीवन से दूर होते चले गए।

तीन दशक तक वाजपेयी के डॉक्टर रहे रणदीप गुलेरिया

एम्स में वाजपेयी का इलाज डॉक्टर रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में किया जा रहा है। गुलेरिया पुलमोनोलॉजिस्ट है और वर्तमान में एम्स के निदेशक हैं।

तीन बार रह चुके हैं प्रधानमंत्री

अटल बिहारी वाजपेयी तीन बार देश के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। सबसे पहले वह 1996 में 13 दिन के लिए पीएम बने, लेकिन बहुमत साबित न कर पाने की वजह से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। दूसरी बार 1998 में फिर प्रधानमंत्री बने, लेकिन सहयोगी पार्टियों के समर्थन वापस लेने की वजह से 13 महीने बाद उन्हें इस्तीफा देना पड़ा।1999 में फिर आम चुनाव हुए। 13 अक्टूबर 1999 को वह तीसरी बार पीएम बने। इस बार उन्होंने 2004 तक अपना कार्यकाल पूरा किया। वाजपेयी 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में लोकसभा सदस्य रह चुके हैं। वह बतौर प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूर्ण करने वाले पहले और अभी तक एकमात्र गैर-कांग्रेसी नेता हैं। 25 दिसंबर 1924 में जन्मे वाजपेयी ने भारत छोड़ो आंदोलन के जरिये 1942 में भारतीय राजनीति में कदम रखा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here