जानिए क्यों पुरुषों की तुलना में महिलाओं को होता है ज्यादा सिरदर्द!

0
51

पुरुषों की तुलना में महिलाओं में सिरदर्द की परेशानी ज्यादा देखी जाती है. इसके पीछे वजह उनकी दोहरी जिंदगी हो सकती है. इसके अलावा कुछ हॉर्मोनल वजहों को भी जिम्मेदार ठहराया जा सकता है. हालांकि सिरदर्द शरीर की कुछ अनजानी कहानियों को भी बयां करता है. असल में कई बार सिरदर्द सिर्फ सिर में दर्द की वजह से नहीं होता. इसके पीछे और भी कई वजह हो सकती है. मसलन शरीर के अन्य हिस्से में दर्द या कोई बीमारी. इसके चलते भी सिरदर्द जैसी समस्या हो जाती है. इन 6 वजहों से हो सकता है आपको सिर दर्द.

टेंशन :

असल में सिर में किस हिस्से में दर्द हो रहा है, इससे आपकी मानसिक स्थिति का पता लगाया जा सकता है. अगर आपके सिर के दोनों हिस्सों में दर्द हो रहा है तो समझ जाइए कि यह टेंशन का दर्द है. टेंशन में अकसर सिर के दोनों हिस्सों में दर्द होता है.

माइग्रेन :

अगर आपके ब्रेन वाले हिस्से में दर्द है तो समझें कि यह कोई सामान्य दर्द नहीं है. यह दर्द माइग्रेन का हो सकता है. इसके लिए नर्व जिम्मेदार होती हैं. ब्रेन में दर्द का अनुभव अक्सर सिर के बीचोंबीच होता है. अगर आपको ऐसा महसूस होता है तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें.

पाचन तंत्र :

कई बार सिर के दर्द का संबंध सिर से नहीं बल्कि पेट से भी होता है. दरअसल पाचन तंत्र सही न हो तो इसकी वजह से भी सिर में दर्द हो सकता है. यदि सिर के एक हिस्से में लगातार लंबे समय से दर्द हो रहा हो तो यह डायरिया के लक्षण भी हो सकते हैं.

सेंस :

कई बार एक खास किस्म की आवाज कान में सुनाई पड़ती है, जिससे सिर में दर्द का अहसास होने लगता है. कई बार घंटों फोन पर बात करने से ऐसा हेाता है. कई बार किसी परफ्यूम की गंध के कारण भी ऐसा होता है. कुल मिलाकर कहने का मतलब यह है कि कई बार अलग अलग सेंस की वजह से भी सिर में दर्द होता है.

देर तक सोचने से भी सिरदर्द :

आपका ब्रेन जब कई चीजों से बोझिल हो जाता है, तब भी उसे दर्द का अनुभव होने लगता है. यदि आप किसी सोच से काफी देर से परेशान हैं तो भी आपको सिर में दर्द महसूस हो सकता है.

हॉर्मोन :

सिर दर्द के पीछे एक वजह हॉर्मोन भी हो सकती है. हॉर्मोन के कारण हृदय गति बहुत तेज हो जाती है. खूब पसीना आने लगता है. इन तमाम बदलावों के कारण सिर में दर्द की समस्या हो सकती है.