जानिये आखिर क्यों बाजार से अचानक गायब हो गया रूह अफजा

0
105

नई दिल्ली: गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है ऐसे में बाजार में तरह-तरह के कोल्ड ड्रिंक भी आ चुके हैं. लेकिन गर्मी के शुरू होते ही जो ड्रिंक बाजार में छा जाता था और सालों से लगातार लोगों की पहली पंसद बना हुआ था .वो इस बार बाजार से लगभग गायब-सा है. हम बात कर रहे हैं रूह अफजा की जो इस बार मार्केट में न के बराबर दिख रहा है.

पिछले कुछ समय से बाजार में इसकी कमी है। चर्चा है कि हमदर्द फाउंडर हकीम हाफिज अब्दुल मजीद के पोते अब्दुल मजीद और उनके चचेरे भाई हामिद अहमद के बीच कंपनी पर नियंत्रण को लेकर जंग छिड़ गई है।

कंपनी का यह दावा


हालांकि कंपनी ने इससे इनकार किया है। हमदर्द के मार्केटिंग ऑफिसर और चीफ सेल्स मंसूर अली ने कहा, ‘हम कुछ हर्बल सामानों की सप्लाई में कमी का सामना कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि एक सप्ताह के भीतर सप्लाई-डिमांड में अंतर को पाट दिया जाएगा।’ अली ने बताया कि 400 करोड़ के इस ब्रैंड की बिक्री गर्मियों में 25 फीसदी बढ़ जाती है। अली ने कहा, ‘बंटवारे को लेकर चर्चा पूरी तरह निराधार है। यह सब अफवाह है।’

अली ने कहा, ‘हम कई महीनों का कच्चा माल स्टॉक में रखते हैं, लेकिन इस बार कुछ कमी हो गई है। जिन हर्बल्स का हम इस्तेमाल करते हैं वे सामान्य रूप से उपलब्ध नहीं होते हैं।’ दो बड़े रिटेलर्स ने सप्लाई में कमी की पुष्टि करते हुए कहा कि जो पहले कैश दे रहे हैं उन्हें पहले सप्लाई मिल रही है। यह ब्रैंड 4.5 लाख रिटेलर्स तक पहुंचता है।

उपभोक्ताओं को खल रही कमी

एक उपभोक्ता ने ट्वीट किया, ‘सालों से रूह अफजा इफ्तार का अहम हिस्सा रहा है। आज हर कोई #Roohafza मिस कर रहा है।’ इस तरह के कई ट्वीट वायरल हो रहे हैं।

पारिवारिक कलह से बंद हो गया था प्रॉडक्शन: सूत्र


यह जानकारी मिली है कि अहमद ने मजीद के खिलाफ केस फाइल की है। अटकलें हैं कि इस वजह से रूह अफजा का प्रॉडक्शन कम हो गया है। रूह अफजा का करीब 1000 करोड़ रुपये के सिरप ड्रिंक्स मार्केट के आधे हिस्से पर कब्जा है।

एक अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया, ‘चार महीनों से सप्लाई में कमी है। पारिवारिक कलह की वजह से नवंबर में प्रॉडक्शन बंद हो गया था और मिड अप्रैल में शुरू हुआ है।’