रोजा रखना सेहत के लिए भी फायदेमंद, होते हैं जानिए ये 5 बड़े लाभ

0
87

दुनियाभर में रमजान की रौनक है. सभी मुसलमान रोजे-नमाज से अल्लाह को राजी करने में लगे हुए हैं. लेकिन रमजान के पवित्र महीने में रोजा रखने से सिर्फ इबादत ही नहीं होती, बल्कि इससे सेहत को भी कई फायदे पहुंचते हैं. यही कारण है कि रमजान के अलावा भी कई मुस्लिम और गैर मुस्लिम लोग मानसिक और शारीरिक रूप से सेहतमंद रहने के लिए रोजा या व्रत करते हैं. आइए जानते हैं रमजान में रोजा रखने से सेहत को किस तरह फायदा पहुंचता है-

1. वजन कम होता है- मोटापा आजकल अधिकतर लोगों की समस्या है. लेकिन आप रोजा रखकर बढ़ते हुए वजन को कंट्रोल कर सकते हैं. यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास की स्टडी के मुताबिक, खाली पेट रहने या कम मात्रा में खाने से शरीर की सूजन कम होती है, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और वजन भी कम होता है. स्टडी के मुताबिक, फास्ट करने से शरीर की कोशिकाओं पर स्ट्रेस पड़ता है. इससे वजन कम होने में मदद मिलती है.

2. खजूर है जरूरी- रमजान में खजूर का खास महत्व होता है. इस्लाम में रोजा खोलने के लिए खजूर का इस्तेमाल करने के लिए कहा गया है. खजूर खाने से सेहत को भी बहुत फायदा होता है. खजूर खाने से शरीर को एनर्जी मिलती है. खजूर में मौजूद फाइबर से डाइजेशन बेहतर होता है. इसके साथ ही खजूर में पोटैशियम, मैग्नीशियम और विटामिन बी भी पाया जाता है, जो सेहत के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है.

3. कोलेस्ट्रोल कम होता है- हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि रमजान के रोजे रखने से वजन कम होने के साथ-साथ शरीर में कोलेस्ट्रोल का स्तर भी कम होता है. कोलेस्ट्रोल कम होने से दिल सेहतमंद रहता है. साथ ही हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियों से सुरक्षित रहा जा सकता है.

4. मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है- रोजे के दौरान दिनभर भूखे प्यासे रहने से मेटाबॉलिज्म बेहतर तरीके से काम करने लगता है. इससे खाने के ज्यादा से ज्यादा न्यूट्रिएंट्स शरीर को मिलते हैं. रमजान में लंबे समय तक भूखे रहने के बाद देर शाम खाने से शरीर में Adiponectin हार्मोन बनता है, ये शरीर को ज्यादा न्यूट्रिएंट्स एब्जोर्ब करने में मदद करता है.

5. बुरी आदतों से छुटकारा- बुरी आदतों से छुटकारा पाने के लिए रमजान सबसे अच्छा समय होता है. रोजे रखने के बाद व्यक्ति धूम्रपान, तंबाकू, मीठी चीजों के सेवन से सुरक्षित रहता है. UK नेशनल हेल्थ सर्विस के मुताबिक, धूम्रपान, अल्कोहल और तंबाकू की लत को दूर करने के लिए रमजान सबसे अच्छा समय है.