दिलचस्प होती जा रही है कर्नाटक की सियासत, कौन जीतेगा बाज़ी

0
76

नई दिल्ली: कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के नतीजे तो आ गए हैं, लेकिन अभी भी सरकार किसकी बनेगी यह साफ नहीं हुआ है। बीजेपी के सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद भी सरकार बनाने में पैदा हुई असमंजस की स्थिति बुधवार 16 मई को दूर हो सकती है। बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी बीएस येदियुरप्पा बुधवार को दिल्ली पहुंचगे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आवास पर मुलाकात करेंगे। इस दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कुछ वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री भी मौजूद होंगे।

बीजेपी के प्रवक्ता शांथाराम का कहना है कि पीएम मोदी से विचार-विमर्श के बाद तय होगा कि येदियुरप्पा किस दिन शपथ ग्रहण करेंगे। मंत्रिमंडल में कितने लोगों को शामिल किया जाएगा। शपथ ग्रहण में किन-किन लोगों बुलाया जाएगा, बहुमत के आंकड़े को कैसे जुटाया जाए आदि सभी मसलों पर पीएम मोदी से राय-मशविरा लिया जाएगा।

बीजेपी विधायकों के साथ बैठक करेंगे येदियुरप्पा

बीजेपी की ओर से कहा गया है कि बुधवार को कही बीएस येदियुरप्पा अपनी पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, जेपी नड्डा, प्रकाश जावड़ेकर और धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायक येदियुरप्पा को विधायक दल का नेता चुनेंगे।

जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन ने भी सरकार बनाने का दावा किया

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी, लेकिन बहुमत से 9 सीटें दूर रह गई। उधर कांग्रेस ने भगवा पार्टी को सत्ता से दूर रखने के लिये नाटकीय रूप से चुनाव के बाद गठबंधन के तहत तीसरे नंबर की पार्टी जेडीएस को अपना समर्थन दे दिया।

त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति सामने आने के बाद सबसे बड़े दल बीजेपी और चुनाव पश्चात बने कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन के सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद राज्य में भावी सरकार को लेकर संशय और गहरा गया है।

विधायकों को लालच का आरोप

जेडीएस को कांग्रेस का समर्थन मिलने के बाद भले ही अब अंतिम फैसला राज्यपाल को लेना हो लेकिन दोनों तरफ से पुरजोर कोशिशें की जा रही है। कांग्रेस-जेडीएस ने जहां एक तरफ बीजेपी पर अपने विधायकों को लालच देकर उन्हें तोड़ने का आरोप लगाया है तो वहीं दूसरी तरफ सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त दिख रही बीजेपी ने कहा कि राजनीति पूरी तरह से संभावनाओं का खेल है।

बिग अपडेट

11.08 AM: बी. एस. येदियुरप्पा और प्रकाश जावड़ेकर राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंच गए हैं।

11.05 AM: चार कांग्रेस विधायक पार्टी के संपर्क में नहीं, पार्टी उन्हें लेने के लिए बिदर और कलबुर्गी में हेलिकॉप्टर भेज सकती है।

11.03 AM: येदियुरप्पा ने कहा कि कल वो शपथ लेंगे।

11.02 AM: येदियुरप्पा बीजेपी विधायक दल के नेता चुने गए

10.25 AM: बी. एस. येदियुरप्पा बोले कि अभी हमारे विधायकों की बैठक होगी, जिसके बाद नेता का चुनाव होगा। हम यहां से सीधे गवर्नर के पास जाएंगे और सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

10.22 AM: मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि बीजेपी को डराने-धमकाने के अलावा कोई काम नहीं आता है।

10.00 AM: कर्नाटक में कांग्रेस की बैठक शुरू हो गई है, करीब 43 विधायक पहुंच गए हैं। बाकी विधायकों का आना अभी बाकी है।

9.50 AM: भाजपा विधायक दल की बैठक में शामलि होने के लिए कर्नाटक के ऑब्जर्रवर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, जेपी नड्डा और प्रकाश जावडेकर भाजपा दफ्तर पहुंचे।

उधर कांग्रेस के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने आज पार्टी के सभी निर्वाचित विधायकों की बैठक बुलाई है। कांग्रेस और जनता दल (सेक्यूलर) ने आरोप लगाया है कि भाजपा हमारे विधायकों को तोड़नेकी कोशिश कर रही है लेकिन हमारे विधायक टूटेंगे नहीं। दूसरी तरफ आज भाजपा ने भी विधायक दल की बैठक बुलाई है और येदियुरप्पा आज सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

उधर सिद्धारमैया के बैठक बुलाए जाने पर आज सुबह कांग्रेस के सभी निर्वाचित विधायक पार्टी दफ्तर पहुंच गए हैं। इस बैठक में कांग्रेस के महासचिव सांसद केसी वेणुगोपाल और भी शामिल होंगे।

जब कांग्रेस से पूछा गया कि क्या विधायकों को कहीं और शिफ्ट किया जा सकता है। तो इस सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता डीके शिवाकुमार ने कहा कि बिल्कुल अपने विधायकों को बचाने का हमारे पास प्लान है।

उन्होंने कहा कि हमें पता है कि भाजपा हमारे विधायकों को लालच देगी। हरदिन दबाव बढ़ता जाएगा। लेकिन यह आसान नहीं होगा। क्योंकि दो पार्टियों के पास मैजिक नंबर है।

जब ये बात सिद्धारमैया से पूछी गई तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सभी विधायक संपर्क में हैं। कोई भी गायब नहीं है। हम जरूर सरकार बनाएंगे।

कांग्रेस-JDS के नेता राज्यपाल से मिले

कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं ने मंगलवार को यहां राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की और कर्नाटक में जेडीएस के नेतृत्व वाली सरकार बनाने का दावा पेश किया। निर्वतमान मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद और मल्लिकार्जुन खड़गे ने जेडीएस के प्रदेश प्रमुख एच डी कुमारस्वामी समेत दोनों पार्टियों के नेताओं ने वाला से मुलाकात की और सरकार गठन के लिये मौका दिये जाने का अनुरोध किया।

राज्यपाल से बैठक के बाद कुमारस्वामी ने कहा कि चर्चा के बाद अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने हमारी पार्टी के अध्यक्ष को समर्थन देने का पत्र दिया … अपनी पार्टी की तरफ से कांग्रेस नेताओं के साथ हमने राज्यपाल से कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाने का अवसर देने का अनुरोध किया। दो निर्दलीय विधायकों का भी हमें समर्थन है।

येदियुरप्पा भी राज्यपाल से मिले

जेडीएस नेता ने कहा कि राज्यपाल ने उन्हें बताया कि वह निर्वाचन आयोग से अधिकृत नतीजे आने के बाद इस पर फैसला लेंगे। कांग्रेस – जेडीएस के इस कदम की काट के लिये भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा भी वाला से मिले और सरकार बनाने का दावा पेश किया। सिद्धारमैया ने कहा कि अब तक घोषित नतीजों के मुताबिक हमारे आंकड़े ज्यादा हैं और हमनें राज्यपाल के संज्ञान में भी यह बात डाल दी है । हमें उम्मीद है कि निर्वाचन आयोग से आधिकारिक जानकारी आने के बाद राज्यपाल कानूनी ढांचे के तहत फैसला लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here