‘मणिकर्णिका’ विवाद में कंगना ने आमिर, आलिया और ट्विंकल तक को घसीटा, कहा- इतिहास तुम्हें माफ नहीं करेगा

0
154

मुंबई: कंगना रनौत को बॉलीवुड की ‘क्वीन’ कहा जाता है, लेकिन उनके बयानों से लगता है कि वो न सिर्फ सिनेमा बल्कि विवादों की भी क्वीन हैं. करण जौहर के शो ‘कॉफी विद करण’ में उनका नेपोटिज़्म वाला विवाद हो या फिर ऋतिक रोशन और आदित्य पंचोली वाला, हर बार कंगना खुलकर मैदान में आती रहीं हैं और बिंदास होकर अपना पक्ष सभी के सामने रखती रही हैं.

इस बार कंगना रनौत की फिल्म ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ के निर्देशन को लेकर विवाद खड़ा हुआ है. हालांकि, कंगना ने इस विवाद में कई बड़े सितारों को भी लपेटे में ले लिया. एक इंटरव्यू में कंगना ने उन तमाम सितारों पर कटाक्ष किया जो महिला सशक्तिकरण के पैरोकार तो हैं लेकिन जब कंगना ने फिल्म निर्देशित की तो वो उसे देखने नहीं आए.

इस इंटरव्यू में कंगना रनौत ने करण जौहर, आलिया भट्ट, ट्विंकल खन्ना से लेकर आमिर खान तक को इस बात के लिए निशाने पर लिया है कि वो उनकी फिल्म को देखने नहीं पहुंचे. इसके अलावा उन्होंने फिल्म के सह-निर्देशक कृष पर भी निशाना साधा. साथ ही उन्होंने सोनू सूद को भी आड़े हाथों लिया.

जो अब इस फिल्म का हिस्सा भी नहीं वो भी इंटरव्यू दे रहे हैं-कंगना

हाल ही में ‘मणिकर्णिका’ के सह-निर्देशक कृष ने एक इंटरव्यू दिया था, जिसमें उन्होंने कंगना पर फिल्म को हाइजैक करने का आरोप लगाया. अब कंगना ने पिंकविला से बात करते हुए कहा, “व्यक्तिगत तौर पर कहूं तो ये प्रोजेक्ट मेरे लिए बहुत कीमती था और मुझे लगता है कि ये लोग बस फिल्म को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं. ये साफ है कि इनके मन में फिल्म के लिए कोई प्यार नहीं है. अच्छा अब ये हमारा नहीं है चलो इसे बर्बाद कर देते हैं.”

कंगना ने कहा कि उनको फिल्म का क्रेडिट दिया गया है. कौन कहता है कि क्रेडिट नहीं दिया गया है? बगैर सोनू सूद का नाम लिए कंगना ने कहा, “कुछ और लोग भी हैं जो बात कर रहे हैं. जो लोग अब इस फिल्म का हिस्सा भी नहीं वो लोग फुल पेज इंटरव्यू दे रहे हैं. उन्होंने अपनी पूरी ज़िंदगी में कभी इंटरव्यू नहीं दिया था.”

कंगना ने कहा, “लोग कह रहे हैं कि तुम यहां तक कैसे पहुंच गई. दरअसल उनका कहना है कि तुम यहां तक पहुंच ही नहीं सकती. मैं उनसे कहना चाहती हूं कि मैं जहां हूं, वहां हूं. इससे निपटो. तुम्हें इसे हजम करना होगा.”

आलिया ने मुझे राज़ी का ट्रेलर भेजा- कंगना

कंगना से सवाल किया गया कि जब 2014 में उनकी फिल्म ‘क्वीन’ रिलीज़ हुई थी तो सभी ने तारीफ की थी, लेकिन अभी जब ‘मणिकर्णिका’ आई है तो बॉलीवुड चुप है. ऐसा क्यों? इस पर कंगना ने कहा कि वो जो भी तारीफें थीं वो मुझे नहीं लगता कि मेरे लिए थीं. उन्होंने कहा, “उस वक्त फिल्म की कई स्क्रीनिंग हुई थी. अनुराग कश्यप और विकास बहल जैसे लोगों के कई दोस्त थे वो आ रहे थे देखने. लेकिन मुझे हमेशा अनदेखा किया गया.”

कंगना ने बताया कि लोग मुझे स्क्रीनिंग के लिए फोन करते थे. उन्होंने कहा कि ‘तनु वेड्स मनु’ के वक्त मैंने लोगों को बुलाने की खूब कोशिश की, लेकिन कोई नहीं आया. लेकिन जब उनको ज़रूरत पड़ी तो बड़ी ही बेशर्मी से वो मुझे फोन करने लगे.

उन्होंने कहा, “यहां तक की मैंने अपना शूट कैंसिल किया. और ये सुनिश्चित किया कि मैं उनके शो अटेंड कर सकूं. लेकिन अब मैंने ये सब बंद कर दिया है. क्योंकि अब ये ज्यादा हो गया था.”

कंगना ने बताया कि आलिया ने उन्हें राज़ी का ट्रेलर भेजा और देखने की गुज़ारिश की. उन्होंने कहा, “ये फिल्म मेरे लिए करण (जौहर) या आलिया (भट्ट) की फिल्म नहीं थी, बल्कि सहमत खान की फिल्म थी. और ये लोग कैसे इतने नीच हो सकते हैं. ये लोग किसी फिल्म को किसी एक व्यक्ति से कैसे जोड़कर देख सकते हैं

आमिर खान पर साधा निशाना

रानी लक्ष्मीबाई के किरदार का हवाला देते हुए कंगना ने कहा कि क्या ये आज़ादी सिर्फ मेरी है? क्या ये किसी और शख्स से नहीं जुड़ी है? उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा, “आमिर ने मुझे ‘दंगल’ के लिए, ‘सुपरस्टार’ (सीक्रेट सुपरस्टार) के लिए फोन किया.

मैं अंबानी हाउस गई थी उन्होंने मुझे फोन किया. ‘दंगल’ मेरे लिए महिला सशक्तिकरण के बारे में एक फिल्म थी. लेकिन लगता है कि उनके पास मेरी इन कोशिशों के लिए कोई वक्त ही नहीं. मेरी दो तीन फिल्में और भी आने वाली हैं, लेकिन मैं इन लोगों से उम्मीद नहीं करती कि ये मेरी फिल्मों के बारे में कुछ लिखेंगे भी.”

कंगना ने बताया कि ‘राज़ी’ देखने के बाद उन्होंने आलिया और फिल्म की निर्देशक मेघना गुलज़ार से बात की थी. उन्होंने कहा, “मैंने आलिया और मेघना दोनों से आधे आधे घंटे बात की थी, लेकिन (अब) किसी की तरफ से कोई रिस्पॉन्स नहीं है. ये एक रैकेट है.

ये एक प्रकार से अजीब तरह का रैकेट है. मुझे नहीं पता वो किससे डरे हुए हैं. देखिये कुछ लोग होते हैं जो फेस वैल्यू पर जीते हैं. उदाहरण के तौर पर मैं करण जौहर को सच में पसंद करती हूं. वो जो हैं, सबके सामने हैं. लेकिन उन लोगों का क्या जो आपको मौके के हिसाब से इस्तेमाल करते हैं और अपना काम निकालकर चलते बनते हैं.”

कंगना ने कहा कि जो लोग महिला सशक्तिकरण को लेकर घंटो बातें करते हैं, जैसे ट्विंकल खन्ना, उन्होंने कुछ भी नहीं कहा. उन्होंने कहा कि आमिर टीवी पर घंटों महिला सशक्तिकरण के बारे में बात करते हैं, लेकिन उनके पास मेरी फिल्म देखने का टाइम नहीं. वो मेरे अच्छे दोस्त रहे हैं. कंगना के मुताबिक नेपोटिज़्म इंडस्ट्री के मेन पार्ट को दुख पहुंचा रहा है.

कंगना ने ये भी कहा कि इस तरह से गैंग बनाने का कोई फायदा नहीं होगा. लेकिन ये क्या दिखाता है. इन जीज़ों से जो बेरहम चेहरा दिखता है, जिसका मैं बचाव भी नहीं कर सकती. इन लोगों ने मुझे इनका बचाव करने तक का मौका नहीं दिया है. इसलिए ये मुमकिन नहीं है कि मैं इनका बचाव कर सकूं. उन्होंने कहा, “इतिहास तुम्हें माफ नहीं करेगा.”