कैलाश-मानसरोवर यात्रा का हुआ समापन

0
52

पिथौरागढ़: कैलाश—मानसरोवर की यात्रा पर गये 41 श्रद्धालुओं के आखिरी जत्थे के आज सुबह तिब्बत से भारतीय क्षेत्र में लौटने के साथ ही उत्तराखंड में स्थित लिपुलेख दर्रे के जरिए होने वाली इस वार्षिक तीर्थयात्रा रविवार को संपन्न हो गयी।

यात्रा की नोडल एजेंसी कुमांउ मंडल विकास निगम (केएमवीएन) और पिथौरागढ़ जिला प्रशासन ने यहां बताया कि श्रद्धालुओं का आखिरी जत्था सुबह साढ़े सात बजे भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर गया ।

पिथौरागढ़ शिविर में निगम के प्रभारी दिनेश गुरूरानी ने बताया, ‘श्रद्धालु आज निगम के बूंदी शिविर में रूकेंगे और पिथौरागढ़ होते हुए नयी दिल्ली पहुंचेंगे।’ गुरूरानी ने बताया कि इस वर्ष कुल 949 श्रद्धालु लिपुलेख के जरिये कैलाश मानसरोवर गये जिनमें से 23 को विभिन्न व्यक्तिगत कारणों से यात्रा बीच में छोड़कर लौटना पड़ा और एक तीर्थयात्री की रास्ते में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी ।

मानसरोवर यात्रा नयी दिल्ली से आठ जून को शुरू हुई थी ।