JNU: पूर्व छात्रा शेहला रशीद पर देशद्रोह का केस दर्ज, सेना के खिलाफ झूठी बयानबाजी का लगा आरोप

0
45

नई दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) की पूर्व छात्रा और कश्मीरी नेता शेहला रशीद के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है. शेहला रशीद पर आरोप है कि उन्होंने भारतीय सेना को लेकर फेक न्यूज़ फैलाई है. दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की है.

दिल्ली पुलिस की तरफ से कहा गया है कि तिलक मार्ग थाने में एक वकील की शिकायत के आधार पर शेहला राशिद के खिलाफ बुधवार को एफआईआर दर्ज की गई है. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ”एफआईआर आईपीसी की धारा 124-ए (राजद्रोह), 153-ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा, आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) 153 (दंगा भड़काने के इरादे से उकसाने वाला) के तहत दर्ज किया गया है.”

बता दें कि शेहला रशीद ने 18 अगस्त को एक के बाद एक कई ट्वीट किए थे, जिसमें सेना पर कश्मीरियों के साथ अत्याचार करने का आरोप लगाया था. इन आरोपों को सेना ने झूठा बताया था. इसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आज शेहला के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है.

क्या कहा था शेहला रशीद ने

ट्वीट की एक श्रृंखला में शेहला रशीद ने दावा किया था कि भारतीय सेना गलत तरीके से कश्मीर में पुरुषों को उठा रही थी, घरों में छापे मार रही थी और जम्मू-कश्मीर में लोगों पर अत्याचार कर रही है. शेहला राशिद ने दावा किया था कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी अपने एजेंडे को पूरा करने के लिए कश्मीर में मानवाधिकार का हनन कर रही है.

सेना ने आरोपों को बताया निराधार

सेना की तरफ से कहा गया कि शेहला ने जो आरोप लगाए हैं वे आधारहीन है और सेना उन्हें नकारती है. सेना ने कहा कि ऐसी असत्यापित और झूठी खबरें आसामाजिक तत्वों और संगठनों द्वारा अनसुनी आबादी को भड़काने के लिए फैलाई जाती हैं.