कर्ज में डूबी जेट एयरवेज, अरब की कंपनी करेगी निवेश, नरेश गोयल देंगे इस्‍तीफा

0
51

नई दिल्ली: खाड़ी की एयरलाइन कंपनी एतिहाद एयरवेज नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मदद करेगी. खबर के मुताबिक एतिहाद एयरवेज 1,600 से 1,900 करोड़ रुपये का निवेश कर सकती है. इस निवेश के बाद एतिहाद की जेट एयरवेज एयरलाइन में हिस्सेदारी बढ़कर 24.9 फीसदी हो जाएगी. अभी एतिहाद की हिस्सेदारी 24 फीसदी है. बता दें कि जेट एयरवेज गंभीर वित्तीय संकट से जूझ रही है. यही वजह है कि उसे अपने कई विमानों को खड़ा करना पड़ा है. इसके साथ ही वह कर्मचारियों के वेतन भुगतान और ऋण भुगतान में विलंब कर रही है.

नरेश गोयल को देना होगा इस्तीफा

इस निवेश के साथ ही नरेश गोयल को एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के चेयरमैन पद से इस्तीफा देना होगा. हालांकि वह एयरलाइन के निदेशक मंडल में दो व्यक्तियों को नामित कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक गोयल को एयरलाइन का चेयरमैन एमिरिटस नामित किया जा सकता है जबकि उनके बेटे निवान गोयल को कुछ शर्तों के साथ कोई उचित कार्यकारी पद दिया जा सकता है.

गोयल ने मांगी थी मदद

इस बीच जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने अपने सहयोगी एतिहाद से 750 करोड़ रुपये की आकस्मिक मदद मांगी है. इसके लिए उन्होंने एतिहाद को एक पत्र लिखकर कहा है कि अगर मदद नहीं की गई तो जेट एयरवेज बंद हो जाएगी. उन्होंने कंपनी के बहुत भारी नकदी संकट का सामना करने का उदाहरण देते हुए कहा कि कंपनी की हालत ठीक नहीं है. बता दें कि पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने से कंपनी को अपने 50 से ज्यादा विमानों को खड़ा करना पड़ा है.

बता दें कि 14 फरवरी को जेट एयरवेज के निदेशक मंडल ने कंपनी पर कर्ज का पुनर्गठन करने की योजना को हरी झंडी दे दी थी. इसके बाद कंपनी को कर्ज देने वाले बैंक सबसे बड़े हिस्सेदार बन जाएंगे. दरअसल, कंपनी को दिए गए कर्ज को एक रुपये के न्यूनतम मूल्य पर शेयर में परिवर्तित कर दिया जाएगा. शेयरधारकों ने भी इस पुनर्गठन योजना को 21 फरवरी को मंजूर कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here