सहायक आयुक्त के घर पर जांच जारी, 29 लाख कीमत का फ्लैट मिला

0
27

खरगोन। जनजाति कार्य विभाग की सहायक आयुक्त शकुंतला डामोर के घर पर आज सुबह से ही जांच जारी है। लोकायुक्त की टीम फिलहाल घर पर मौजूद है और उसने आज उनके बंगले की तलाशी ली और अहम दस्तावेज जांचे। जांच के दौरान उनके घर में पांच लाख रुपए का घरेलू सामान मिला है।

इसके अलावा इंदौर में 29 लाख कीमत का एक फ्लैट मिलने की भी जानकारी सामने आ रही है। हालांकि सहायक आयुक्त डामोर ने कार से जब्त की गई राशि को लेकर सफाई दी है। उन्होंने लोकायुक्त टीम को बताया है कि ये उनकी सैलरी की राशि थी। जिसे वो अपने इलाज के लिए इंदौर लेकर जा रही थीं।

इससे पहले किशनगंज पुलिस ने गुरुवार रात पिगडंबर (महू-इंदौर के बीच) फोर लेन टोल नाके पर सहायक आयुक्त शकुंतला डामोर की कार रोकी थी। वे अपनी कार (एमपी 10 सीए 4610) में खरगोन से इंदौर की ओर आ रही थीं। किशनगंज टीआई करणीसिंह शक्तावत ने डामोर की गाड़ी रुकवाई। जांच के दौरान पुलिस को इस कार से एक लाख 60 हजार की रकम बरामद हुई थी।

लोकायुक्त एसपी दिलीप सोनी ने बताया कि डामोर इस रकम का हिसाब नहीं दे पाईं। अधिकारी की जानकारी में यह रकम संदिग्ध नजर आई, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने लोकायुक्त को जानकारी दी। बताया जाता है कि लोकायुक्त ने पहले ही स्थानीय पुलिस को इसकी खबर दे दी थी। एसपी सोनी ने डामोर से काफी देर तक एक बंद कमरे में पूछताछ की। जिसके बाद रात करीब 10.30 बजे वे उन्हें इंदौर लोकायुक्त के दफ्तर ले गए।

बंगले पर पहुंची थी लोकायुक्त टीम

कार रोकने के साथ ही लोकायुक्त इंदौर की एक टीम खरगोन में डामोर के कलेक्टोरेट परिसर स्थित बंगले पर गुरुवार रात अचानक पहुंची थी। उस वक्त डामोर बंगले पर नहीं थीं। वहां ताला लगा था। इस दौरान टीम के साथ पुलिस जवान भी थे।

उल्लेखनीय है कि डामोर बाजना (रतलाम) की निवासी हैं। उनके पति मानसिंह डामोर सैलाना (रतलाम) में लेक्चरर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here