पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के जबरन धर्मांतरण पर भारत ने जताया ऐतराज

0
111

भारत ने पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन की शर्मनाक घटनाओं को लेकर पाकिस्तान के समक्ष अपनी गंभीर चिंता जताई है. भारत ने इस संबंध में पाकिस्तान से अल्पसंख्यक समुदाय की सुरक्षा के लिए कदम उठाने को कहा है.

विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने राज्यसभा सदस्य राजकुमार धूत के एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को यह जानकारी दी. उनसे सवाल किया गया था कि क्या सरकार को पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के अपहरण और उनके जबरन धर्म परिवर्तन संबंधित सूचनाओं की जानकारी है.

मंत्री ने कहा कि सरकार को समय-समय पर पाकिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों के समक्ष आ रही समस्याओं की रिपोर्ट मिलती रहती है. इनमें पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों का अपहरण और उनका जबरन धर्म परिवर्तन जैसी समस्याएं भी शामिल है.

मंत्री ने बताया कि इस वर्ष के शुरू में पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाली दो नाबालिग हिंदू बहनों और दो हिंदू लड़कियों का अपहरण किए जाने, उन्हें जबरन इस्लाम धर्म कबूल करवाने से संबंधित खबरें सामने आई हैं. ऐसे कई अन्य मामले हैं जिनके बारे में स्थानीय अखबारों अथवा मीडिया में किसी प्रकार की कोई रिपोर्ट नहीं छपती है.

मंत्री ने कहा, ”सरकार ने अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन करवाए जाने संबंधी इन शर्मनाक घटनाओं के संबंध में अपनी गंभीर चिंताएं पाकिस्तान के साथ साझा की है और पाकिस्तानी पक्ष से कहा गया है कि वह तत्काल उचित करवाई करे. वह अपने नागरिकों, विशेषत: अल्पसंख्यक समुदायों की सुरक्षा, संरक्षा, उनके कल्याण की रक्षा करने और उन्हें बढ़ावा देने संबंधी अपनी संवैधानिक दायित्वों को पूरा करे.”

गौरतलब है कि अल्पसंख्यक और मानवाधिकार मुद्दों पर पाकिस्तान का रिकॉर्ड खराब रहा है. पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन के मुद्दे संयुक्त राष्ट्र में भी उठाए जा चुके हैं.