भारत ने फिर लगाई पाक को डांट, कहा दुनिया की आंखों में धूल झोंकने के लिए की हाफिज सईद पर कार्रवाई

0
124

भारत ने गुरुवार को पाकिस्तान को मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद और उसके करीबियों पर कड़ी कार्रवाई किए जाने को एक दिखावे भरा कदम बताया है. और इसे आधे मन से अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आंखों में धूल झोंकने वाला कदम भी कहा है.

पाकिस्तान की जमीन पर आज भी फल-फूल रहे हैं आतंकी कैंप

रवीश कुमार ने कहा कि आतंकियों और आतंकी समुदायों पर कार्रवाई करने की मंशा को पाकिस्तान की जमीन से चलाए जा रहे आतंकी समुदायों पर की जा रही कमजोर कार्रवाई के जरिए समझा जा सकता है न कि इसके बारे में इस आधे मन से की गई कार्रवाई के जरिए बात की जानी चाहिए. रवीश कुमार ने बताया कि ये सारे ही आतंकी संगठन वहां मौजूद हैं कई बार यह बात विश्वसनीय सूत्रों ने जाहिर की है लेकिन पाकिस्तान में उनपर कार्रवाई नहीं हुई. ऐसे में पाकिस्तान ने यह कार्रवाई अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आंखों में धूल झोंकने के लिए की है.

FATF ने पाक पर आतंक पर लगाम लगाने को बना रखा है काफी दबाव

विदेश मंत्रालय की यह प्रतिक्रिया सईद और उसके 12 करीबियों पर पाकिस्तानी प्रशासन के केस दर्ज कराए जाने के बाद आई है. कल पाकिस्तान ने इनके ऊपर कई सारे आतंकवाद और मनीलॉन्ड्रिंग के आरोपों में केस दर्ज किए थे.

इमरान खान की सरकार के ऊपर FATF का आतंकवाद पर कार्रवाई करने के लिए खासा दबाव है. FATF ने उसे सितंबर तक का वक्त आतंकियों की फाइनेंसिंग बंद करने के लिए दिया है.

क्या IMF से लोन लेने के चलते पाक ने की हाफिज सईद पर कार्रवाई?

इसके अलावा कल पाकिस्तान के साथ IMF के बोर्ड की मीटिंग भी थे. जिससे तुरंत पहले 26/11 के मास्टरमाइंड और उसके करीबियों पर केस दर्ज किए गए थे. तभी से आरोप लग रहा था कि पाकिस्तान ने IMF से लोन पाने के लिए और अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आंखों में धूल झोंकने के लिए आतंकी हाफिज पर कार्रवाई की है. हालांकि पाकिस्तान अपने मकसद में काफी हद तक कामयाब दिखा है क्योंकि IMF ने पाकिस्तान के लिए 6 बिलियन डॉलर यानि 41 लाख रुपये से ज्यादा के लोन को मंजूरी दे दी है.

आपको बता दें कि पाकिस्तान पर पहले से ही चीन, सऊदी अरब और UAE का भारी लोन है. ऐसे में इनसे और लोन न लेकर पाकिस्तान के पास आगे के आर्थिक कामों के लिए IMF से लोन लेने का ही विकल्प बचा रह गया था.