सुषमा की खरी-खरी : अगर उदार हैं इमरान तो मसूद अजहर को सौंपे

0
94

नई दिल्ली : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बार फिर पाकिस्तान को फटकारते हुए पाक पीएम इमरान खान पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अगर इतने ही उदार हैं तो मसूद अजहर को हमें सौंप दें। आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले इमरान खान ने खुद उदार दिखाते हुए विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा कर वापस भारत भेजा था।

सुषमा ने ‘इंडियाज वर्ल्ड: मोदी गवर्नमेंट्स फॉरेन पॉलिसी’ कार्यक्रम में कहा कि इमरान को बहुत बड़ा स्टेट्समैन बताया जा रहा है। लेकिन मैं कहना चाहती हूं कि भारत-पाक के रिश्ते उसी शर्त पर सुधर सकते हैं जब वह अपने आतंकियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करे और भारत के खिलाफ अपनी धरती से आतंकी गतिविधियां बंद करें। उन्होंने बातचीत व आतंकवाद के साथ-साथ नहीं चलने पर जोर दिया।

पाकिस्तान को आईएसआई और सेना पर नियंत्रण की जरूरत

विदेश मंत्री ने कहा कि, पाकिस्तान को आईएसआई और अपनी सेना पर नियंत्रण करने की जरूरत है जो बार-बार द्विपक्षीय रिश्तों को बर्बाद करने पर तुले हैं। सुषमा ने कहा कि भारत के पाकिस्तान से अच्छे रिश्ते हो सकते हैं बशर्ते पड़ोसी देश ‘अपनी जमीन पर आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करे।’

आतंकवाद पर बात नहीं कार्रवाई

उन्होंने कहा, ‘हम आतंकवाद पर बात नहीं चाहते, हम उस पर कार्रवाई चाहते हैं। आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते।’ स्वराज से भारत द्वारा बालाकोट में की गई भारतीय हवाई कार्रवाई के बाद पाकिस्तानी पलटवार के बारे में भी सवाल पूछा गया, इस पर उन्होंने कहा कि भारत ने खास तौर पर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने को निशाना बनाया। उन्होंने कहा, ‘जैश की तरफ से पाकिस्तानी सेना ने हम पर हमला क्यों किया? आप न सिर्फ जैश को अपनी जमीन पर पाल रहे हैं बल्कि उन्हें फंड भी दे रहे हैं और जब पीड़ित देश प्रतिरोध करता है तो आप आतंकी संगठन की तरफ से उस पर हमला करते हैं।’

कितने झूठ बोलेगा पाकिस्तान

विदेश मंत्री ने कहा कि, पुलवामा हमले के चंद मिनटों बाद जैश ने जिम्मेदारी भी ले ली। आपके विदेश मंत्री कहते हैं कि मसूद अजहर पाक में है। लेकिन वह इतना बीमार है कि घर के बाहर नहीं निकल सकता। चंद दिन बाद पाक के आर्मी प्रवक्ता कहते हैं कि मसूद तो पाक में है ही नहीं। ओसामा बिन लादेन भी आपके यहां नहीं था पर बाद में आपकी जमीन पर ही मारा गया। कसाब के बारे में पाक कहता है कि कौन कसाब, कैसा कसाब। सुषमा ने कहा कि हर बार आप अपने आतंकी को लेने से मना करते हैं, उसे पाक का होने से खारिज करते हैं लेकिन वह पाया वहीं जाता है। बाद में तो पाक का ये बयान भी आया कि जैश ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली ही नहीं। आप लोग कितना और किस-किस के सामने झूठ बोलेंगे।

उन्होंने कहा, ‘मुझे विदेश मंत्रियों के कॉल आते हैं, जो सबसे पहले पुलवामा हमले पर शोक प्रकट करते हैं फिर एकजुटता प्रकट करते हैं और इसके बाद वे धीरे से कहते हैं कि हमें लगता है भारत स्थिति को नहीं खराब करेगा।’ स्वराज ने कहा, ‘इस पर मेरा जवाब रहता है – नहीं। मैं आपको आश्वस्त करती हूं कि भारत स्थिति को नहीं खराब करेगा, लेकिन कोई भी आतंकी हमला हुआ तो हम चुप नहीं बैठेंगे क्योंकि पुलवामा हमले को हम अपनी नियति नहीं कह सकते।

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) की बैठक में मिले आमंत्रण के बारे में उन्होंने कहा कि भारत इस मामले में काफी विनम्रता का अनुभव कर रहा है कि उसे ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ का दर्जा दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here