सुप्रीम कोर्ट से मिली गुलाम नबी आजाद को जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत

0
71

नई दिल्ली:  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर जाने की अनुमति दे दी है. हालांकि, शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में स्‍पष्‍ट कर दिया है कि आजाद वहां कोई राजनीतिक रैली ना करें. मुख्‍य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्‍यक्षता वाली पीठ ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री को जम्मू, अनंतनाग, बारामुला और श्रीनगर जाकर लोगों से बातचीत करने की अनुमति दी है. पीठ में जस्टिस एसए बोबडे और एसए नजीर भी शामिल थे.

आजाद ने कोर्ट को दिलाया भरोसा, सूबे में नहीं करेंगे कोई रैली
कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता गुलाम नबी आजाद का पक्ष रख रहे वरिष्ठ अधिवक्‍ता अभिषेक मनु सिंघवी ने पीठ से कहा कि वह लोगों से मिलकर उनका हालचाल जानना चाहते हैं. सिंघवी ने बताया कि गुलाम नबी आजाद ने तीन बार जम्‍मू-कश्‍मीर जाने की कोशिश की, लेकिन हर बार उन्हें हवाई अड्डे से ही लौटा दिया गया. आजाद ने याचिका में शीर्ष अदालत से अपने परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों से मिलने जाने के लिए अनुमति मांगी थी. आजाद ने कोर्ट को भरोसा दिलाया कि वह वहां कोई रैली नही करेंगे.

सामाजिक हालात का मुआयना करने के लिए जाने की मांगी मंजूरी

गुलाम नबी आजाद ने जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेषाधिकार देने वाले अनुच्‍छेद-370 को हटाए जाने के बाद प्रशासन की ओर से आम कश्‍मीरियों पर लगाए गए प्रतिबंधों के मद्देनजर सामाजिक हालात का मुआयना लेने के लिए वहां जाने की अनुमति मांगी थी. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू-कश्मीर जाने की कोशिश की थी, लेकिन उनको भी इसकी इजाजत नहीं दी गई थी. राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी दलों के नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट पर ही रोककर वापस दिल्ली भेज दिया गया था. प्रतिनिधिमंडल में माकपा नेता सीताराम येचुरी भी शामिल थे.

येचुरी और महबूबा मुफ्ती की बेटी को भी मिल गई थी अनुमति
सीताराम येचुरी ने जम्मू-कश्मीर जाने की मंजूरी नहीं दिए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कोर्ट में उन्होंने कहा कि वह माकपा नेता यूसुफ तारीगामी का हालचाल जानने के लिए जम्मू-कश्मीर जाना चाहते हैं. इसलिए उन्‍हें जाने की इजाजत दी जाए. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ उनको जम्मू-कश्मीर जाने की अनुमति दे दी थी. वहीं, 5 सितंबर को जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा को भी अपनी मां से मिलने की इजाजत दी गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा था कि अगर वह श्रीनगर में कहीं और जाना चाहें तो जिला प्रशासन की इजाजत से जा सकती हैं.