बदलते मौसम के कारण हो सकता है फ्लू , ये घरेलू नुस्खे अपनाएं

0
48

स्पेशल डेस्क: इस वक्त मौसम में काफी तेजी से बदलाव हो रहा है। सुबह और रात के वक्त ठंड महसूस होती है जबकी दिन के समय तेज गर्मी रहती है। इस तरह के मौसम में जरा सी लापरवाही आपको बीमार कर सकती है। डॉक्टरों का भी यही कहना है कि इस बदलते मौसम में सावधान रहने की जरूरत है ताकि आप खांसी-सर्दी, जुकाम और कॉमन फ्लू जैसी परेशानियों से बचे रहें। इस सीजनल बीमारियों से बचना हो या फिर फ्लू हो जाए तो इससे निपटना हो… दवाईयों के बजाए ये घरेलू नुस्खे अपनाएं जिनका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है…

नींबू,दालचीनी,शहद

नींबू, दालचीनी और शहद का मिश्रण कॉमन कोल्ड-कफ और फ्लू की समस्याओं से छुटाकारा दिलाने में कारगर साबित हो सकता है। विटमिन सी से भरपूर नींबू को जब दालचीनी और शहद के साथ मिलाया जाता है तो यह खांसी में राहत दिलाता है। इसे बनाने के लिए आधा चम्मच शहद में नींबू की कुछ बूंदें और चुटकी भर दालचीनी पाउडर डालें। इस मिश्रण का दिन में 2 बार सेवन करें। तुरंत राहत मिलेगी।

तुलसी का काढ़ा

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के पत्तों के साथ जब इलायची, दालचीनी औऱ शहद को मिलाया जाता है तो यह भी खांसी-सर्दी औऱ फ्लू से निपटने में मदद करता है। इस काढ़े को बनाने के लिए 1 गिलास पानी में 1 लौंग, 1 बड़ी इलायची, दालचीनी का छोटा टुकड़ा, थोड़ी सी लेमनग्रास और 5-7 तुलसी के पत्ते डालें। अब इस पानी को 10-15 मिनट के लिए धीमी आंच पर उबालें। गैस बंद कर पानी को छान लें। काढ़ा तैयार है। इसमें 1 चम्मच शहद मिलाकर पिएं।

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध जुकाम में काफी फायदेमंद होता है क्योंकि हल्दी में एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं जो कीटाणुओं से हमारी रक्षा करते हैं। रात को सोने से पहले इसे पीने से सर्दी-जुकाम और फ्लू में तेजी से आराम पहुचंता है। हल्दी में एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल प्रॉपर्टीज मौजूद रहती है जो की इंफेक्शन से लड़ती है। इसकी एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज सर्दी, खांसी और जुकाम के लक्षणों में आराम पहुंचाती है।

गर्म पानी और नमक से गरारे

गर्म पानी में चुटकी भर नमक मिला कर गरारे करने से खांसी-जुकाम के दौरान काफी राहत मिलती है। इससे गले को राहत मिलती है और खांसी से भी आराम मिलता है। यह भी काफी पुराना नुस्खा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here