आखिरकार शुरू हुआ प्रियंका का यूपी दौरा, आज लखनऊ में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक

0
111

नई दिल्‍ली : लगातार कई दौरे रद्द होने के बाद आखिरकार कांग्रेस की नवनियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का चार दिनी यूपी दौरा आज से शुरू हो गया है। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पूर्वी उत्‍तर प्रदेश का प्रभार भी पार्टी ने प्रियंका गांधी को दिया है। चुनाव में पार्टी की जीत सुनिश्चित करने और चुनाव प्रचार करने के लिए प्रियंका गांधी लखनऊ पहुंच गई हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आज अपने यूपी दौरे के पहले दिन लखनऊ स्थित पार्टी ऑफिस में बैठकें करेंगी। इसके लिए वह ऑफिस पहुंच गई हैं। बैठकों का यह दौर देर शाम तक जारी रहेगा। इस दौरान प्रियंका 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव के पार्टी प्रत्याशियों के साथ भी बैठक करेंगी। साथ ही वह लोकसभा चुनाव 2019 के घोषित हो चुके पार्टी प्रत्‍याशियों के साथ भी अहम बैठक करेंगी। माना जा रहा है कि इस बैठक में चुनाव को लेकर अहम रणनीति बनाई जा सकती है।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पत्र लिखा है। उसमें उन्‍होंने कहा है कि यूपी से आत्‍मिक रूप से जुड़ी रही हूं। यूपी के लोगों से मेरा पुराना नाता है। समाज के समाज सभी वर्ग सरकार से परेशान हैं। यूपी की राजनीति को बदलना मेरी जिम्‍मेदारी है्। उन्‍होंने कहा है कि सच्‍चाई और संकल्‍प की बुनियाद पर हम राजनीति में बदलाव लाएंगे।

प्रियंका गांधी बैठक के दौरान पार्टी प्र‍त्‍याशियों से लोकसभा चुनाव की तैयारियों संबंधी जानकारी भी लेंगी। इसके अलावा वह कई कर्मचारी संगठनों के नेताओं से भी प्रदेश कार्यालय में मुलाकात करेंगी। टीईटी और आंगनबाड़ी कार्यककर्ताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ भी उनकी बैठक प्रस्‍तावित है। इस दौरान पार्टी घोषणा पत्र में उनकी मांगों को शामिल करने को लेकर चर्चा होगी।

बता दें कि प्रियंका गांधी वाड्रा अपने चार दिनी यूपी दौरे के तहत 18 मार्च से प्रयागराज से नाव के जरिए गंगा-जमुनी तहजीब यात्रा की शुरुआत करेंगी। इसका समापन 19 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में होगा। प्रियंका अपनी दो दिवसीय यात्रा में करीब 140 किलोमीटर का सफर तय करेंगी और इस दौरान विभिन्न स्थानों पर वह कार्यकर्ताओं और समाज के अलग-अलग वर्गों के लोगों से मुलाकात करेंगी। प्रियंका के लिए 19 मार्च की शाम को वाराणसी के मशहूर अस्सी घाट पर एक स्वागत समारोह भी रखा गया है और वह 20 मार्च को दिल्ली रवाना होने से पहले मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी और वाराणसी में काशी विश्वनाथ के दर्शन कर सकती हैं।