उन्नाव-कठुआ रेप केस पर कांग्रेस का कैंडल मार्च, धक्का-मुक्की से गुस्साई प्रियंका

0
150

नई दिल्ली : उन्नाव-कठुआ रेप मामले से कांग्रेस को मोदी सरकार के खिलाफ विरोध का एक नया हथियार मिल गया है। दोनों मामलों को लेकर केंद्र और यूपी की बीजेपी सरकार के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आक्रामक रूख अपनाते हुए गुरुवार देर रात राहुल गांधी के नेतृत्व में इंडिया गेट पर कैंडल मार्च निकाला। राहुल के इस मार्च में कांग्रेस नेता, आम जनता के अलावा उनकी बहन प्रियंका गांधी भी अपने परिवार के साथ शामिल हुईं। लेकिन वहां कुछ ऐसा भी हुआ जिससे प्रियंका गांधी गुस्से से आग बबूला हो गईं।

दरअसल, गुरुवार रात को इंडिया गेट पर काफी ज्यादा भीड़ इकट्ठा हो गई थी। इस बीच कांग्रेस कार्यकर्ताओं में प्रियंका गांधी से हाथ मिलाने और उनके साथ सेल्फी लेने की होड़ मची थी। इसी दौरान भीड़ थोड़ी बेकाबू हुई और वहां पर धक्का-मुक्की शुरू हो गई। बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी के साथ भी धक्का-मुक्की हुई। इस दौरान प्रियंका किसी शख्स को कोहनी मारती हुई भी दिखीं।

लेकिन इस बीच प्रियंका ने मोर्चा संभाला और धक्का-मुक्की कर रहे कार्यकर्ताओं को खरी-खोटी सुना दी। प्रियंका ने गुस्से भरे अंदाज में कहा, आप सोचिए कि आप क्या कर रहे हैं, अब आप चुपचाप से खड़े होकर चलेंगे वहां तक। जिसको धक्का मारना है घर चला जाए।

गौरतलब है कि सिर्फ प्रियंका ही नहीं, राहुल गांधी को भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा। इसके बाद एसपीजी ने राहुल को कुछ देर के लिए गाड़ी में बैठा लिया। हालांकि, इसके बाद राहुल बाहर आए और वहां मौजूद लोगों से बातचीत की।आपको बता दें कि ना सिर्फ प्रियंका बल्कि उनकी बेटी भी इस मार्च का हिस्सा बनी। मिराया अपने माता-पिता के साथ मार्च में पहुंची।

बता दें कि कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार में महिलाओं की असुरक्षा व शर्मनाक घटनाओं के खिलाफ इंडिया गेट पर मिडनाइट कैंडल मार्च निकाला है। इस मार्च में राहुल गांधी के अलावा प्रियंका गांधी, रॉबर्ट वाड्रा, निर्भया के माता-पिता, कांग्रेस नेता अशोक गहलोत समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। साथ ही यहां सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता इंडिया गेट पर मौजूद थे।

राहुल ने मोदी सरकार को घेरा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मार्च के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल ने यहां कहा कि देश की महिलाएं बाहर निकलने से डरती हैं और ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘बेटी बचाओ’ का काम शुरू कर देना चाहिए। राहुल ने कहा कि हम महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध, बलात्कार, हिंसा और हत्या की घटनाओं के खिलाफ यहां मौजूद हैं। सरकार को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए, यह राष्ट्रीय मुद्दा है। राजनीतिक मुद्दा नहीं है।

राहुल ने कहा कि यह हमारी अपनी महिलाओं के लिए है, हजारों लोग यहां मौजूद हैं, जिनमें सभी पार्टियों के लोग और आम लोग भी शामिल हैं। आज देश में ऐसे हालात हैं जहां हत्या, बलात्कार और हिंसा की एक के बाद एक घटनाएं हो रही हैं। हम उसके खिलाफ यहां खड़े हैं, हम चाहते हैं कि सरकार कार्रवाई करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here