कांग्रेस का अजित डोवाल पर वार, कहा- ’56 महीने के कोरे भाषण नहीं, 56″ की हिम्मत चाहिए

0
71

नई दिल्ली: अब जैश के प्रमुख मसूद अजहर पर भी राजनीति शुरू हो गई. कांग्रेस ने इसे लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल पर तीखा हमला किया है. पार्टी का दावा है कि उनकी सरकार ने आतंकियों के प्रति कभी कोई रियायत प्रदान नहीं दी है. उनके अनुसार इसके लिए 56 महीने के कोरे भाषण नहीं, बल्कि 56 इंच की हिम्मत चाहिए.

कांग्रेस मीडिया सेल के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक के बात एक कुल तीन ट्वीट किए हैं. इसमें उन्होंने लिखा है कि यूपीए की नीति राष्ट्रहितैषी थी. हाईजैकिंग को लेकर यूपीए सरकार ने ठोस नीति बनाई थी.

सुरजेवाला ने अजित डोवाल के पुराने लेख को उद्दृत किया है. इसमें लिखा गया था कि मसूज अजहर को छोड़ा जाना राजनीतिक फैसला था.

डोवाल के पुराने लेख का हवाला देते हुए कांग्रेस ने कहा कि उन्होंने मसूद अजहर को क्लीन चिट दे दी. अजित डोभाल ने उग्रवादी मसूद अजहर को विस्फोटक व बंदूक़ चलाने की जानकारी भी न होने का दिया, ‘क्लीन चिट सर्टिफ़िकेट’– 1 मसूद को IED बम बनाना भी नहीं आता, 2 मसूद को निशाना लगाना नहीं आता, 3 अज़हर को रिहा करने के बाद टूरिज्म में 200% की वृद्धि #BJPLovesTerrorists

हम आपको बता दें कि सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के एक कार्यक्रम के दौरान मसूद के लिए अजहरजी शब्द का प्रयोग किया. इसके बाद भाजपा ने राहुल गांधी पर तीखा हमला किया. तभी से राहुल पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

इसे लेकर ही कांग्रेस पार्टी ने फिर से मसूद को लेकर ट्वीट किया है. पार्टी का कहना है कि राहुल ने तंज कसने के लिए अजहर को अजहरजी कहा था.