बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर आज, श्रद्धांजलि देने के लिए कांग्रेस के नेताओं के पहुंचने की उम्मीद

0
85

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में इन दिनों सियासी पारा मानो आसमान छू रहा है. राज्य में लगे राष्ट्रपति शासन के बीच एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना की ओर से लगातार सरकार बनाने की कोशिश की जा रही है. इसी कवायद के बीच आज शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे की पुण्यतिथि है. शिवसेना की ओर कोशिश की जा रही थी कि कांग्रेस एनसीपी के साथ नई सरकार का एलान आज के दिन ही किया जाए लेकिन शरद पवार ने कह दिया कि इसमें अभी और वक्त लगेगा.

बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर आज महाराष्ट्र का सियासी समीकरण बदला हुआ नजर आएगा. पुण्यतिथि पर बालासाहाब ठाकरे के बेटे और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने परिवार सहित शिवाजी पार्क में बने स्मारक पर श्रद्धांजलि देंगे. बाल ठाकरे को श्रद्धांजलि देने के लिए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सहित बीजेपी के अन्य नेता भी पहुंच सकते हैं.

वहीं बदले हुए सियासी समीकरणों को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि कांग्रेस और एनसीपी के भी कुछ नेता भी पहुंचेंगे. महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर लगातार एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना नेताओं के बीच चर्चा चल रही है. इसी बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही बनेगा. संजय राउत ने कहा कि हम चाहते हैं कि उद्धव ठाकरे ही सरकार का नेतृत्व करें. हमारे मन में आत्मविश्वास है कि महाराष्ट्र में जो सरकार हम बनाने जा रहे हैं, उस सरकार का नेतृत्व शिवसेना का मुख्यमंत्री करेगा.

सोनिया-पवार की मुलाकात टली, सोमवार को होगी बैठक
एनसीपी चीफ शरद पवार और कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी की प्रस्तावित मुलाकात अब कल तक के लिए टल गई है. यह मुलाकात अब सोमवार को होगी. इस बैठक में दोनों एक साथ मिलकर आगे की रणनीति तय करेंगे और आगे क्या कदम उठाया जाए इस पर चर्चा करेंगे. शरद पवार ने आज पुणे में एनसीपी कोर कमेटी की बैठक बुलाई है. दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद शरद पवार ने यह बैठक बुलाई है.

एनडीए की बैठक में शामिल नहीं होगी शिवसेना, विपक्ष में बैठेगी
संसद शीतकालीन सत्र से पहले आज होने वाली एनडीए की बैठक में शिवसेना भाग नहीं लेगी. शिवसेना को एनडीए की बैठक में शामिल होने के लिए भी निमंत्रण नहीं मिला है. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में जिस तरह के घटनाक्रम हो रहे हैं, उसे देखते हुए हमने पहले ही बैठक में भाग लेने के खिलाफ फैसला कर लिया था. राउत ने कहा कि एनडीए का कोई मलिक नहीं है. शिवसेना अकाली दल एनडीए के संस्थापक हैं. अब के जो सूत्रधार हैं, वो तब नहीं थे.

महाराष्ट्र की वर्तमान स्थिति क्या है ?
महाराष्ट्र में किसी भी पार्टी या गठबंधन के सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किये जाने के बाद 12 नवंबर को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था. शिवसेना ने 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव में 56 सीटें जीती थी. बीजेपी ने 288 सदस्यीय सदन में सबसे अधिक 105 सीटों पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस और एनसीपी ने क्रमश: 44 और 54 सीटों पर विजय हासिल की थी. इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के हवाले से कहा गया है कि बीजेपी सरकार बनायेगी. बीजेपी ने शनिवार को यहां अपने पराजित उम्मीदवारों के साथ बैठक की. इसके बाद चंद्रकांत पाटिल ने पत्रकारों को बताया कि फडणवीस ने विश्वास जताया है कि पार्टी सरकार बनाएगी.