चमकी बुखार पर गरमाई सियासत: अपने स्वास्थ्य मंत्री से जबरन इस्तीफा लेंगे CM नीतीश?

0
112

नई दिल्ली: बिहार में चमकी बुखार से हो रही मौतों के सिलसिले में जहां थोड़ी कमी हो रही है, वहीं इस मुद्दे पर सियासत परवान चढ़ने लगी है. विपक्ष के हमलों के बीच अब बिहार सरकार के भीतर भी खींचतान की खबरें सामने आ रही हैं. सूत्रों से मालूम पड़ा है कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का इस्तीफा मांग रहे हैं. हालांकि बीजेपी सूत्रों ने भी स्पष्ट संकेत दिया है कि वह इस्तीफा नहीं देंगे. जाहिर है बीजेपी-जेडीयू के बीच यह बड़ा सियासी मसला बन सकता है.

इस्तीफे की मांग पर अड़ी JDU

जानकारी के अनुसार नीतीश कुमार नैतिकता के आधार पर मंगल पांडे पर इस्तीफे का दबाव बना रहे हैं. दरअसल मुख्यमंत्री का मानना है कि चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौतों के मसले पर बुरी तरह घिर चुकी बिहार सरकार को इस इस्तीफे से थोड़ी राहत मिल सकती है. सीएम का मानना है कि चमकी बुखार का मामला सीएम से अधिक संबंधित स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी थी, और यह मंगल पांडे के ही जिम्मे है.

मंगल पांडे के साथ खड़ी BJP

वहीं बीजेपी के नेता इसे कोरी राजनीति कह रहे हैं. पार्टी का मानना है कि यह आज का मसला नहीं है. यह हर साल होता है. इसके लिए दीर्घकालीन नीति बनानी होगी, जो बिहार सरकार को करना चाहिए. जाहिर है आरोप-प्रत्यारोप के बीच इसी मसले पर दोनों पार्टियों के बीच तलवारें खिंची हुई हैं.

बिहार BJP का बड़ा चेहरा हैं मंगल पांडे
मंगल पांडे बिहार बीजेपी के कद्दावर नेता माने जाते हैं. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के करीबी होने के साथ राष्ट्रीय स्तर पर उनकी पहचान एक सशक्त संगठनकर्ता की भी है. बिहार में बीजेपी के अध्यक्ष रहे तो पार्टी को विस्तार दिया था उन्होंने. इसी तरह वह झारखंड और हिमाचल प्रदेश के चुनाव प्रभारी रहे और पार्टी को उन्होंने दोनों ही जगहों पर जीत दिलाई थी.

तो क्या जबरन इस्तीफा लेंगे CM नीतीश?
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां तक कह दिया है कि अभी वो इस्तीफा दे दें, बाद में उन्हें एडजस्ट कर लेंगे. हालांकि बीजेपी अपने इस कद्दावर नेता की साख पर किसी भी तरह से आघात नहीं आने देना चाहती है. जाहिर है ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या नीतीश कुमार अपने ही मंत्री से जबरन इस्तीफा लेंगे?