तोडे़ गए मठ मन्दिर व व्यापार संस्थानों के लिए मुख्यमंत्री का पुनर्वास पैकेज

0
39

भुवनेश्वर. पुरी में जगन्नाथ मन्दिर के 75 मीटर के अन्दर तोड़े जा रहे मठ, मन्दिर, आवास, लाॅज व व्यापारिक संस्थानों के लिए मुख्यमन्त्री नवीन पटनायक की ओर से पुनर्वास पैकेज का ऐलान किया गया है। सबके लिए अलग-अलग पैकेज है।

आवासः 75 मीटर के अन्दर आनेवाले वासगृह के लिए अलग से पैकेज दिया जाएगा। जिन लोगों का घर तोड़ा जा रहा है उन्हे अपना घर का सामान परिवहन के लिए पहले 50 हजार रूपये दिये जाएंगे। विस्थापित परिवारों को घर या जमीन मिलने तक हर माह 10 हजार रूपये करके घरभाड़ा के रूप से दिया जाता रहेगा। विस्थापित होने वाले परिवारों के लिए मुख्यमन्त्री ने 3 तरह के पैकेज रखे हैं। विस्थापित होने वाले इनमें से किसी एक को चुन सकते हैं। पहला एक परिवार चाहे तो एक साथ 30 लाख रूपये मुआवजा के रूप से ले सकते हैं। दूसरा मन्दिर के डेढ़ किलोमीटर के अन्दर 520 वर्गफीट का एक घर ले सकते हैं जिसे सरकार बनाकर देगी। तीसरे में मन्दिर के दो किलोमीटर के अन्दर 1000 वर्ग फीट की एक जमीन ले सकते हैं। इनमें से जो लोग एक साथ 30 लाख रूपये ले जाएंगे उन्हे हर महिने 10 हजार रूपये का घरभड़ा नहीं मिलने वाला है।

व्यापारिक संस्थान या दुकानः जिन लोगों का दुकान तोड़ी जा रही हैं उनके लिए भी दो प्रकार के पैकेज हैं। पहले पैकेज में छोटे, मझौले व बड़े दुकान के लिए नये दुकान बनने तक हर महिने क्रमानुसार 5, 10 व 15 हजार करके भाड़ा मिलता रहेगा। जब तक उनकी दुकान खड़ी नहीं होती है, तब तक यह मिलता रहेगा। दूसरा पैकेज है कि तोड़ी दुकान के बदले में पुरी के विभिन्न काम्प्लेक्स में सरकारी दुकान उपलब्ध कराई जाएगी।

लाॅज होटलः 75 मीटर के अन्दर जिन लोगों का लाॅज तोडे़ जा रहे हैं उन्हे 1500 वर्गफीट से अधिक जमीन लाज बनाने के लिए दी जाएगी। 3000 वर्ग फीट से अधिक इलाके में जिनका लाज हैं उन्हे 10 लाख रूपये मुआवजा के रूप से मिलेगा। 3000 वर्ग फीट से कम जमीन पर स्थित लाॅज के लिए तुरन्त 5 लाख रूपये दिये जाएंगे। हर लाज को हर वर्गफीट को 15 रूपये करके 18 माह तक सहायता दिया जाता रहेगा। नहीं तो लाज मालिक चाहे तो एक साथ प्रति वर्गफीट के लिए 2000 करके रूपये ले सकेंगे। इन लोगों को बड़ दाण्ड के 300 मीटर इलाके के अन्दर नये लाज बनवाने के लिए जमीन दी जाएगी। इसके लिए 50 गुणा 30, 50 गुणा 40 व 50 गुणा 60 वर्ग फीट जमीन दी जाएगी। नये लाज निर्माण के समय प्रति वर्ग फीट 750 रूपये करके सहायता दी जाएगी। पुरी में जगन्नाथ मन्दिर के 75 मीटर अन्दर जितने पुराने मठ, मन्दिर हैं उनका मूल गादी को तोड़ा नहीं जाएगा। इसके साथ शीघ्र शीघ्र जगह खाली करने के लिए राज्य सरकार की ओर से कहा गया है कि जो लोग 30 दिन के अन्दर पैकेज लेकर जगह खाली करके चले जाएंगे उन्हे एक प्रोत्साहन पैकेज भी मिलेगा।