बर्थडे स्पेशल : बिन ब्याही मां की बेटी थीं रेखा, मां की तरह ही अधूरा रह गया रेखा का ये सपना

0
68

स्पेशल डेस्क: बॉलीवुड की सदाबहार ब्यूटी रेखा का हमेशा से एक सपना था कि वो किसी की पत्नी बनें और कोई ताउम्र उन्हें बेपनाह प्यार करता रहे.. लेकिन उनका ये छोटा सा ख्वाब पूरा तो हुआ लेकिन अपने अंजाम तक न पहुंच सका. रेखा की शादियां तो कई हुईं लेकिन उनकी शादी किसी न किसी कारण से बहुत लंबे समय तक चल नहीं सकी.

Related image

बिन ब्याही लड़की की संतान थी रेखा

रेखा ने एक बार सिमी गरेवाल के शो पर कहा था कि ”मैं प्यार में डूबा रहना चाहती हूं, जैसे मेरी मां मेरे पिता के प्यार के नशे में गुम थीं.” लेकिन अपनी मां की ही तरह रेखा को भी प्यार में मंजिल न मिल सकी. 10 अक्टूबर 1954 को चेन्नई में जन्मीं भानुरेखा एक बिन ब्याही लड़की की संतान थी. रेखा बताती हैं कि उनकी हमेशा उनके पिता के साथ के लिए तरस्ती रहीं और ऐसा ही कुछ इत्तेफाक रेखा की जिंदगी के साथ भी हुआ.

रेखा ने एक बार कहा था कि ‘मैं जिससे प्यार करती हूं उससे कोसों मील दूर भागती हूं या दुनिया मुझे भगा देती है’. रेखा का ये बयान उनकी जिंदगी में मोहब्बत के उतार चढ़ावों को बेहद सादगी से बयां करता दिखता है.

Image result for rekha amitabh images

रेखा और अमिताभ का प्यार है अमर

साल 1976 की फिल्म ‘दो अंजाने’ के साथ रेखा की ज़िंदगी में आए अमिताभ बच्चन. रेखा के मुताबिक अमिताभ से मिलने साथ संपर्क में आने के बाद उनकी कायापलट हो गई. रेखा ने बताया कि उनसे मिलने से पहले वो कभी भी अपने काम को लेकर सीरियस नहीं थी, लेकिन बिग से मिलने के बाद उन्हें इसकी अहमियत समझ आई.

इतना ही नहीं रेखा अपने लुक्स और स्टाइल के साथ साथ वो काम को लेकर भी गंभीर हो गयी. बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्रियों में उनका शुमार होने लगा. फिल्म घर और खूबसूरत में उनके अभिनय की बेहद तारीफ की गयी.

Related image

क्या है रेखा के सिंदूर का राज

अमिताभ बच्चन ने भले ही रेखा से कभी अपने प्यार का इजहार न किया हो लेकिन उनके प्यार में पागल रेखा ने कभी इसे छिपाने की कोशिश नहीं की. 22 जनवरी 1980 मौका था ये दिन था अभिनेता ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी का और रेखा इसमें सिंदूर लगाकर पहुंची थी.

लेकिन ये सिंदूर किसके नाम का था इन सवालों के जवाब में रेखा ने खुलकर कभी कुछ नहीं कहा. ये पहला मौका था जब रेखा अपनी मांग में सिंदूर लगाकर लोगों के सामने आईं थी. हालांकि इसके पीछे का रहस्य आज भी रहस्य ही है कि आखिर वो सिंदूर किसके नाम का था?

Image result for rekha AMITABH BACHCHAN

मोहब्बत का इजहार करने के लिए किया था ऐसा

बताया जाता है कि रेखा ने ये हरकत अपनी मोहब्बत का इजहार करने के लिए की थी. इसी साल फिल्म मैगज़ीन स्टारडस्ट में छपे एक लेख के मुताबिक रेखा लोगों को अमिताभ के साथ अपने रिश्ते के बारे में इशारा देने के लिए अजीब अजीब सी हरकतें करती थीं.

Image result for rekha AMITABH BACHCHAN

जब अमिताभ हो गए थे घायल…

रेखा की दीवानगी का आलम ये था कि जब फिल्म कुली के सेट पर अमिताभ बच्चन बुरी तरह घायल हो गए थे तो रेखा उनसे मिलने अस्पताल पहुंची थी. उस दौरान एक मैगज़ीन को दिए बयान में उन्होंने कहा था, ”सोचिए मैं उस शख्स को ये नहीं बता पाई कि मैं कैसा महसूस कर रही हूं.”

”मैं ये महसूस नहीं कर पाई कि उस शख्स पर क्या बीत रही है. मुझे मौत मंजूर थी पर बेबसी का ये एहसास नहीं, मौत भी इतनी बुरी नहीं होती होगी.”

Image result for rekha vinod mehra

रेखा की जिंदगी में आए विनोद मेहरा

इसके बाद रेखा की ज़िंदगी में हुई अभिनेता विनोद मेहरा की एंट्री. दोनों में प्यार हो गया. रेखा और विनोद मेहरा अक्सर साथ में नजर आने लगे थे. जहां एक तरफ रेखा और विनोद एक दूसरे के प्यार में गिरफ्तार हो रहे थे, वहीं दूसरी ओर विनोद की मम्मी कमला मेहरा विनोद के साथ उनके रिश्ते के खिलाफ थीं.

1973 के अंत में कई फिल्म मैगज़ीन्स में खबर छपी कि विनोद मेहरा और रेखा ने कलकत्ता के पार्क सर्कस इलाके के एक मंदिर में शादी कर ली है.

Related image

विनोद की मां के बर्ताव से सन्न रह गईं रेखा

शादी के बाद जैसे ही दोनों मुंबई में विनोद के घर पहुंचे हंगामा खड़ा हो गया. खबरें छपीं कि विनोद की मम्मी ने रेखा घर में घुसाने तक से इंकार कर दिया. खबरों के मुताबिक गुस्से में उन्होंने अपने पैर से चप्पल तक निकाल ली थी. विनोद की मां के इस बर्ताव से रेखा सन्न थीं.

विनोद उन्हें उनके घर तक छोड़ आए और कहा कि जब उनकी मम्मी का गुस्सा शांत हो जाएगा तब उन्हें ले आएंगे. लेकिन फिर कभी ऐसा हो न सका. रिश्ते पर ऐसे दबाव के चलते विनोद और रेखा के रिश्ते में दरार आ गयी और आखिरकार दोनों अलग हो गए. हालांकि सालों बाद सिमी ग्रेवाल के टीवी शो में रेखा ने विनोद के साथ शादी की बात से ही इंकार कर दिया और कहा कि वो बस उनके करीबी दोस्त थे.

Image result

रेखा की चुन्नी से पति ने लगा ली थी फांसी

1990 में रेखा की ज़िंदगी में आए दिल्ली के युवा बिज़नेसमैन मुकेश अग्रवाल. दोनों में मुलाकातें हुईं और प्यार हो गया. मुलाकात के एक महीने बाद ही 4 मार्च 1990, मुकेश ने रेखा को प्रपोज़ कर दिया और फिर उसी रात 37 साल के मुकेश और 36 साल की रेखा ने जूहू के मुक्तेश्वर देवालय मंदिर में शादी कर ली. रेखा गणेशन अब रेखा अग्रवाल बन गयीं.

Image result for rekha

शादी के कुछ दिन बाद ही रिश्तें में पड़ने लगी दरार

शादी के कुछ दिन बाद ही रेखा को पता चला कि मुकेश डिप्रेशन के मरीज़ थे. इस शादी से रेखा और मुकेश की उम्मीदें भी अलग-अलग थीं. रेखा ने धीरे-धीरे मुकेश से दूरी बढ़ानी शुरू की तो मुकेश ने रेखा को फिल्में छोड़ने के लिए कहा. शादी के कुछ महीनों में ही रिश्तें में दरार पड़ने लगी.

लंबी बहसबाज़ी और झगड़ों के चलते, शादी के करीब 6 महीने बाद ही, सितंबर 1990 में, दोनों ने आपसी सहमति तलाक का फैसला कर लिया. इसके कुछ दिन बाद, 26 सितंबर को रेखा एक स्टेज शो में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका चली गईं. लेकिन जो रास्ता मुकेश अग्रवाल ने चुना वो सबके दिलों में कभी ना भरने वाला एक गहरा ज़ख़्म छोड़ गया.

Image result for rekha

लोगों ने रेखा को ठहराया पति की मौत का ज़िम्मेदार

2 अक्टूबर 1990 को मुकेश ने अपने फार्महाउस में रेखा का दुपट्टे से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. हालांकि अपने सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा था कि उनकी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है.

लेकिन हर जगह मुकेश की मौत का ज़िम्मेदार रेखा को ठहराया गया. उन दिनों रिलीज़ रेखा की फिल्म ‘शेषनाग’ के पोस्टरों पर कालिख लगा दी गयी थी. उन्हें पति की हत्यारिन पुकारा जाने लगा. रेखा मुकेश के अंतिम संस्कार में भी नहीं पहुंची.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here