बैंकों के विलय के खिलाफ बैंकिंग सेक्टर के ट्रेड यूनियन करेंगे प्रदर्शन

0
29

नई दिल्ली। बैंकों के विलय के खिलाफ अब बैंकिंग सेक्टर के ट्रेड यूनियन प्रदर्शन करेंगे. चार ट्रेड यूनियन संगठनों ने 25 सितंबर की आधी रात से 27 सितंबर की मध्यरात्रि तक हड़ताल बुलाई है. बैंक कर्मचारियों की हड़ताल के कारण इस महीने लगातार चार दिन तक बैंक बंद रहेंगे. गौरतलब है कि बैंकों के विलयीकरण की घोषणा के बाद लगातार विरोध हो रहा है। उसके बाद अब बैंकों की यूनियन एकजुट होकर आंदोलन की तैयारी कर रही हैं। दरअसल, 28 सितंबर को महीने का चैथा सप्ताह और 29 सितंबर रविवार है. इसके बाद बैंक कर्मचारियों ने नवंबर के दूसरे सप्ताह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है. बता दें कि बैंकिंग सेक्टर को बूस्ट देने के लिए बीते दिनों वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक साथ 10 बैंकों के विलय का ऐलान किया था. इस विलय के बाद 4 नए बैंक अस्तित्व में आ जाएंगे. मतलब यह कि 6 बैंकों का दूसरे बैंकों में विलय जाएगा.

किन- किन बैंकों का हो रहा विलय ?

सरकार ने कुल 10 बैंकों के विलय का ऐलान किया है. पहला विलय पंजाब नेशनल बैंक में यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक का होगा. इसी तरह दूसरे विलय के तहत केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक शामिल होगा. जबकि तीसरे विलय में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक एक हो जाएंगे. चैथे विलय की बात करें तो इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक शामिल होगा. विलय के ऐलान के बाद अब देश में 12 च्ैठे बैंक रह जाएंगे. इससे पहले साल 2017 में पब्लिक सेक्टर के 27 बैंक थे.

विलय को मिलने लगी मंजूरी

सरकार के विलय के ऐलान के बाद हाल ही में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के निदेशक मंडल ने आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक के खुद में विलय को मंजूरी दे दी है. इससे पहले 5 सितंबर को पंजाब नेशनल बैंक के निदेशक मंडल ने भी ऑरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का उसके साथ विलय किए जाने को सैद्धांतिक तौर पर मंजूरी दे दी थी.