10 हजार का ऑटो और 47,500 रूपए का हो गया जुर्माना

0
107

भुवनेश्वर. नए मोटर यान कानूून को लेकर स्मार्ट सिटी के दोपहिया व तिपहिया आटो रिक्शा चालक सदमें में हैं। आज एक आटो रिक्शा चालक पर कुल जुर्माना 47,500 रूपये लगाया गया हैं । घबराकर आटो चालक ने कहा कि वह आटो नहीं लेंगे। क्योंकि इसे पूरा बेच देने पर भी सिर्फ 10 हजार रूपया नहीं मिलेगा। इसके लिए 47,500 रूपये कहां से लाकर देंगे? पुलिस के पास वह आटो छोड़कर भाग गया।
आज दोपहर को स्थानीय आचार्य बिहार चैक पर तेज गति से जाने वाला एक तिपहिया आटो रिक्सा को टैफिक पुलिस ने रोका था। आटो का चालक अपना नाम हरिबंधु कहार बताते हैं। बताया जा रहा है कि जब उन्हे रोका गया था तब वह शराब पिया हुआ था। पहले इसलिए उन्हे 10 हजार रूपये का जुर्माना लगा। जबकि वह जो आटो चला रहे थे वह उनका नहीं था। और किसीका आटो लाकर वह चला रहे थे। इसलिए उन्हे 5000 रूपये का जुर्माना लगाया गया था। आटो रिक्सा उनके नाम पर पंजीकृत नहीं हुआ है इसलिए अलग से 5 हजार, उनका आटो प्रदूषण फैला रहा था इसके लिए 10 हजार, सही परमिट न होने की वजह से 10 हजार, आटो का बीमा कराया नहीं गया है, उसके लिए 2 हजार, गलत लेन पर आटो चला रहे थे थे, उसके लिए 500 इस तरह 47,500 रूपये का जुर्माना लगाया गया था।
फाइन की रकम के बारे में सुनने के बाद चालक कहर ने कहा कि उन्होने और एक व्यक्ति से यह सेकंड हैण्ड आटो खरीदा है। उन्हे और कुछ पैसे देने बाकी है। इसलिए आटो उनके नाम को ट्रान्सफर नहीं हुआ है। इस समय इस आटो को पूरा बेचा जाएगा तो 5से 10 हजार में कोई नहीं लेगा। वह गरीब आदमी है। 47,500 रूपये कहां से लाएंगे। वह आटो को सड़क के किनारे खड़ा करके चाबी पुलिस बाबू को पकड़ाकर चले गये हैं।
इस पर आरटीओ-2 प्रदीप महान्ती का कहना था कि अगर जुर्माना भरकर वह आटो नहीं लेंगे तो आटो को थाने में ले लिया जाएगा। जुर्माना भरने के लिए उन्हे नोटिस भेजा जाएगा। कानूनन उन पर कार्यवाही होगी। महान्ती ने कहा कि जबसे यह कानून लागू हुआ है तब से हम सभी वाहन चालकों से कह रहे हैं, हर चैक पर होर्डींग भी लगाये हैं कि वाहन चलाने वाले थोड़ा सावधानी बरतें।