अमेरिका की हिदायत, वेनेज़ुएला से तेल न खरीदे भारत

0
43

नई दिल्‍ली: वेनेजुएला की निकोलस मादुरो सरकार को अलग-थलग करने में जुटा ट्रम्प प्रशासन अब भारत पर दबाव बनाने की योजना बना रहा है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारत को कहा है कि वह कच्‍चे तेल का बहिष्कार करे. माइक पोम्‍पियो ने भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले से मुलाकात के दौरान इस मुद्दे को उठाया.

मुलाकात के बाद पॉम्पियो ने कहा, ‘‘हम भारत से वही बात कह रहे हैं जो हमने हर देश से कही है. भारत मादुरो सरकार के लिए आर्थिक जीवनरेखा बनने का काम ना करे. तो मैंने उनसे बस इस बारे में बातचीत की. मुझे बातचीत का ब्यौरा नहीं देना चाहिए क्योंकि यह निजी बातचीत थी.’’ पॉम्पियो ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जिस तरह भारत ने ईरान में हमारे प्रयासों को सहयोग किया उसी तरह वह वेनेजुएला के लोगों के सामने आए वास्तविक संकट को भी समझेगा.

इसके साथ ही पॉम्पियो ने क्यूबा, रूस और चीन की मादुरो सरकार को समर्थन देने के लिए आलोचना की. बता दें कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने भी पिछले माह ट्विटर पर भारत को चेताया था कि अगर वह वेनेजुएला से तेल खरीदता है तो उसे याद रखा जाएगा. बता दें कि भारत, वेनेजुएला के तेल का एक प्रमुख आयातक है. इसके लिए वह नकद भुगतान करता है. साल 2017-18 में भारत ने वेनेजुएला से 1.15 करोड़ टन तेल का आयात किया था, जो इसका चौथा सबसे बड़ा स्रोत है.बीते दिनों वेनेजुएला ने भारत में कच्चे तेल की बिक्री बढ़ाने की इच्‍छा जाहिर की थी.

यह है मामला

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का प्रशासन और उसके सहयोगियों ने वेनेजुएला के विपक्ष के नेता और नेशनल एसेंबली के अध्यक्ष जुआन गुआइदो को देश के राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दे दी है और उन्होंने मादुरो से पद छोड़ने को कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here