लोकसभा चुनाव 2019: उत्तर प्रदेश में 11 अप्रैल से 19 मई तक सातों चरणों में होगा मतदान

0
87

लखनऊ: लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है.उत्तर प्रदेश में सातों चरणों में चुनाव संपन्न होंगे। चुनाव आयोग की घोषणा के मुताबिक उत्तर प्रदेश में पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को और आखिरी यानी सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा। मतगणना 23 मई को एक साथ होगी। गौरतलब है सबसे ज्यादा सीटें होने की वजह से उत्तर प्रदेश देश का निजाम तय करने में अहम रोल निभाता है।

उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर मतदान पहले से सातवें चरण तक होगा। पहले चरण में 11 अप्रैल को उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर मतदान होगा। उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण में 18 अप्रैल को आठ सीटों पर मतदान होगा। तीसरे चरण में 23 अप्रैल को दस सीटों के मतदाता अपना-अपना वोट डालेंगे। यूपी में चौथे चरण में 29 अप्रैल को 13 लोकसभा सीट पर मतदान होगा।

पांचवें चरण में छह मई को 14 सीट के प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में कैद होगा। उत्तर प्रदेश में छठें चरण में 12 मई को मतदान होगा। इस चरण में 14 सीट पर मत पड़ेंगे। सातवें तथा अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होगा। इसमें उत्तर प्रदेश की 13 सीट पर मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग करेंगे। पहले चरण के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 25 मार्च होगी।

उत्तर प्रदेश देश का सर्वाधिक सीटों वाला राज्य है। जहां सात चरणों में चुनाव होगा। कुल सीटों की संख्या 80 है। प्रदेश के पूर्व क्षेत्र में कुल सीटों की संख्या 40 है, जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुल सीटों की संख्या 39 है। 2014 में हुए लोक सभा चुनाव में प्रदेश की कुल सीटों में सर्वाधिक 73 सीटों में बीजेपी गठबंधन के खाते में गई थीं। बीजेपी का मुख्य मुकाबला सपा-बसपा गठबंधन के बीच होगा। कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को चुनावी समर में उतार कर मुकाबले को काफी दिलचस्प बना दिया है।

देश में सात चरण में लोकसभा के चुनाव की तारीख आज निर्वाचन आयोग ने की है। इसी के साथ ही आज से आदर्श आचार संहिता लग गई है। पहले चरण में 11 अप्रैल, दूसरे चरण में 18 अप्रैल, तीसरे चरण में तीसरे चरण में 23 अप्रैल, चौथे चरण में 29 अप्रैल, पांचवें चरण में छह मई, छठें चरण में 12 मई और सातवें चरण में 19 मई को मतदान होगा।

पहले चरण में 20 राज्यों की 91 सीटों पर मतदान होगा। दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों पर, तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों पर, चौथे चरण में 9 राज्यों की 71 सीटों पर, पांचवें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर, छठे चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर तथा सातवें व अंतिम चरण में 8 राज्यों की 29 सीटों पर मतदान होगा।