झारखंड से ओडिशा घुसे हाथियों के झुंड से दहशत

0
65

बालासोर। झारखंड से बालासोर ओडिशा घुस आए हाथियों के झुंड बालासोर, क्योंझर व मयुरभंज जिलों में दहशत का माहौल है। बुधवार को करीब 40 हाथियो के झुंड ने झारखंड से ओडिशा के बालासोर वन क्षेत्र मे प्रवेश करके सीमावर्ती गांवों को तबाह कर दिया। फसलों को भारी नुकसान हुआ है। पहले भी मयूरभंज के एक गांव में झारखंड सीमा को पार कर करीब 70 हाथियों का दल ओडिशा में घुस आया था। वन विभाग के अफसर और कर्मी हाथियों को गांवों की तरफ आने से रोक नहीं पा रहे है। हाथियों ने कई एकड़ खेत में खड़ी फसल को भी बर्बाद कर दिया।

चालीस हाथियों का झुंड बालासोर के नीलगिरि ब्लाक के तिनकोसिया जंगल की ओर है। झारखंड से मयुरभंज जिला के बेतानती वन क्षेत्र होते हुए ये हाथी बालासोर के नीलगिरि क्षेत्र जा पहुंचे। इन्हें वन क्षेत्र की ओर ले जाने के लिए हांका लगाया जा रहा है। वन विभाग के हाथियों का हांका लगाने वाले कर्मचारी इस प्रयास में जुटे हैं कि किसी भीप्रकार से हाथी गांवों के भीतर न घुसने पाएं। ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम और ट्रेकिंग टीम हाथियों के झुंड पर नजर रखे है।

हाथियों का झुंड कुलदिहा जंगल की ओर है। यहां पर फल-फूल के पेड़ बहुतायत में हैं। हाथियों के रुकने की एक वजह यह भी हो सकती है। वन विभाग के लोगों ने गांवों में बसे लोगों से अपील की है कि वे हाथियों की मौजूदगी वाले जंगलों को न जाएं। ओडिशा वन विभाग के लोग बताते हैं कि जंगलों की अधिकाधिक कटान से हाथी जैसे पशु ओडिशा के जंगलों की तरफ आ जाते हैं। बालासोर, मयुरभंज, क्योंझर जैसे जिलों खाना पानी की तलाश में आ जाते हैं। .