सी-प्लेन की लैंडिंग से चिलिका में हलचल, किसी को खबर नहीं

0
31

चिलिका। सी-प्लेन के इंजन की गड़गड़ाहट से विश्व विख्यात चिलिका झील में हलचल सी उत्पन्न हो जाती है। लैंडिंग ठीक से कर भी न पाया था कि फिर उड़ गया। किस दिशा में पता नहीं। यह सी-प्लेन लैंडिंग के रहस्य की परते खोलने पर काम शुरू हो गया। एयरपोर्ट अथारिटी के लोग जुट गए हैं। इस उड़ान की खबर चिलिका विकास प्राधिकरण को भी नहीं लगी।

बीजू पटनायक इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निदेशक सुरेश चंद्र होता का कहना है कि उन्हें इस बात की सूचना नहीं है। बिना अनुमति के यदि कोई उड़ान है भी तो जांच पड़ताल एयरपोर्ट अथारिटी के महानिदेशक के आदेश पर ही संभव है। दर असल केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने ओडिशा में पर्यटन विकास के लिहाज सी-प्लेन की उड़ानों की स्वीकृति दी थी। बाद में ईकोलॉजी के द्रष्टिगत राज्य सरकार के दबाव में केंद्र ने इसे निरस्त कर दिया। सी-प्लेन की उड़ान चिलिका, गोपालपुर, बालासोर व हीराकुड (संबलपुर) के इर्दगिर्द होना तय हुआ था।

बताते हैं कि कुछ पल बाद ही सी-प्लेन उड़ गया। समझा जाता है कि जिस कंपनी को सी-प्लेन का काम दिए जाने पर विचार किया जा रहा था यह उसी का सी-प्लेन हो सकता है। या फिर भूलवश कोई सी-प्लेन आ गया होगा। इस बाबत सही जानकारी नहीं मिल सकी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here