लिंगराज के निकट अनंत वासुदेव मंदिर की रसोई के 22 कमरे राख

0
104

भुवनेश्वर 10 अगस्त। अनंत वासुदेव मंदिर परिसर में तड़के भीषण अग्निकांड से मंदिर रसोई घर के 22 कमरे जलकर राख हो गये। आग लगने की असली वजह अब तक पता नहीं चल सकी। बताया जाता है कि शार्ट सर्किट से आग लगी थी।
धू-धूकर जल रहे रसोईघर के कमरों से उठती लपटों से आसपास दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया। मंदिर के लोग ही पहले बाल्टियों से आग बुझाने में लगे रहे। बाद में फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने आग पर काबू पाने के लिए पूरी मशक्कत की। काफी देर में भीषण आग पर काबू पाया जा सका। रसोई घर के कमरों में धान व अन्य सामान भी रखा था।
फायर ब्रिगेड को आग लगने की सूचना क्षेत्रीय लोगों ने फोन पर दी। चार बजे सुबह लगी आग पर काबू पाने के लिए चार दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंची। फायर ब्रिगेड के अधिकारियों का कहना है कि आग लगने का मुख्य कारण पता नहीं चल सका। मंदिर की तमाम संपत्ति का भी भारी नुकसान हुआ। फायर ब्रिगेड के अधिकारियों का कहना है कि आग लगने का कारण और संपत्ति का विवरण मिलना शेष है। इस अग्नि कांड के कारण महाप्रसाद वितरण पूरी तरह प्रभावित हुआ। भक्तों को बिना प्रसाद के ही दर्शन लाभ के बाद जाना पड़ा। बताते चले कि वर्ष 2008 में भी अनंत वासुदेव मंदिर में आग लगी थी। तब मंदिर की संपत्ति का भीषण नुकसान हुआ था। यह मंदिर लिंगराज मंदिर के निकट है। यहां पर हजारों की संख्या नित्य भक्तों का आवागमन होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here