दावेदारी का पैतराः रसगोला पर ओडिशा के पारीजा बनाएंगे फिल्म

0
32

भुवनेश्वर। रसगुल्ला पर ओडिशा और पश्चिम बंगाल के बीच जंग थमती नजर नहीं आ रही है। हालांकि जीआई टैग पश्चिम बंगाल के पक्ष में जाने के बाद ओडिेशा सरकार इस पर अपना दावा जताने को सक्रिय हो चुकी है। हाईकोर्ट में याचिका और जीआई टैग के लिए चैन्ने कार्यालय में पुनर्विचार आवेदन के बाद अब रुपहले परदे पर आने की जंग शुरू हो गयी है। फिल्म प्रोड्यूसर अक्षय पारीजा ने रसगोला (ओडिशा में कहा जाता है) पर फिल्म बनाने का निर्णय लिया है। इस फिल्म में सबूत के साथ यह दर्शाया जाएगा कि यह रसीली मिठाई सबसे पहले ओडिशा में खायी गई थी। पारीजा ओडिशा की दावेदारी पुख्ता करने के लिए याचिका भी दायर कर चुके हैं। फिल्म में वह बताएंगे कि रसगोला ओडिशा में ही 12वीं शताब्दि में अविष्कृत किया गया था। पारीजा का कहना है कि उनकी फिल्म बड़े बजट की होगी। उनका कहना है कि कलाकारों का चयन किया जा चुका है। शीघ्र ही शूटिंग शुरू होगी। उनका कहना है कि बंगाल में बनी मूवी रसोगोला की बायोपिक लव स्टोरी पर आधारित है। यह 21 दिसंबर को रिलीज होगी। उनकी फिल्म काफी हटकर होगी।

रसगुल्ला पर दावेदारी को लेकर ओडिशा में कुछ न कुछ होता रहता है। जीआई टैग की अदालती जंग लड़ रही ओडिशा सरकार की पहल पर बीजू पटनायक इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर रसगुल्ला का स्टाल भी हॉकी विश्व कप के दौरान शुरु किया है। अपर मुख्य सचिव ने इसका उद्घाटन किया। रसगुल्ला ओडिशा का है, इस ओर लोगों का ध्यान खींचने के लिए सरकार ने यह पहल की है। इसकी खास वैराइटी में खीरमोहन रसगोला, चॉकलेट रसगोला, ओरेंज रसगोला, केसर रसगोला के साथ ही राजभोग, मोहन भोग, गुलाब जामुन व अन्य 15 की मिठाई भी एयरपोर्ट में खोले गए काउंटर में रखी गयी हैं। बताते हैं कि रसगुल्ला को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ख्याति दिलाने को ऐसा किया गया है।

ओडिशा सरकार ने जीआई (ज्योग्राफिकल इंडीकेशन) टैग के लिए सभी जरूरी कागजात दाखिल कर दिए हैं। यह जानकारी सूक्ष्म लघु एवं मध्यम विभाग के मंत्री प्रफुल्ल सामल ने यह जानकारी शुक्रवार को विधानसभा में एक सवाल के जवाब में दी उन्होंने बताया कि सरकार जीआई टैग आफिस चैन्नई के संपर्क में है। कागजी कार्रवाई चल रही है। रसगुल्ला ओडिशा का है और रहेगा।

उनका कहना है कि 12 अगस्त को सभी कागजात दाखिल किए जा चुके हैं। जीआई टैग आफिस के 14 बिंदुओं पर ओडिशा सरकार ने जानकारी दी है। यह ओडिशा के दावे को पुख्ता करते हैं। राज्य के लघु उद्योग विभाग ने जीआई टैग के लिए फरवरी में एप्लाई किया था। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल को रसगुल्ला का जीआई टैग नवंबर 2017 में दे दिया गया था। सरकार समय पर अपना दावा पेश नहीं कर पायी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here